गेस्ट हाउस पर फायरिंग कर रंगदारी मांगने वाले पांच बदमाश,तीन देशी कट्टे सहित 61 कारतूस बरामद

गेस्ट हाउस पर फायरिंग कर रंगदारी मांगने वाले पांच बदमाश,तीन देशी कट्टे सहित 61 कारतूस बरामद
firing-at-guest-house-five-miscreants-seeking-extortion-61-country-cartridges-and-61-cartridges-recovered

जयपुर,14 अप्रैल (हि.स.)। प्रताप नगर थाना पुलिस ने गेस्ट हाउस पर फायरिंग कर रंगदारी के लिए कॉल कर धमकाने वाले पांच बदमाशों को गिरफ्तार कर उनके पास से एक देशी पिस्टल दो देशी कट्टे सहित 61 कारतूस बरामद किए है। पुलिस फिलहाल तीनों आरोपितों से पूछताछ कर रही है। पूछताछ में कई ओर अन्य वारदाते खुलने की आंशका जताई जा रही है। पुलिस उपायुक्त जयपुर (पूर्व) अभिजीत सिंह ने बताया कि प्रताप नगर थाना इलाके के टोंक रोड स्थित शिव विहार कॉलोनी निवासी गेस्ट हाउस संचालक दीपक शर्मा ने मामला दर्ज करवाया था कि रविवार रात उसके मोबाइल पर एक युवक का कॉल आया। फोनकर्ता ने कहा कि आज-कल बहुत पैसे कमा रहा है,कुछ हिस्सा हमें देना पड़ेगा। जिस पर पीडित ने रुपये देने से इन्कार करते हुए फोन काट दिया। रुपये देने से इंकार करने के करीब 10 मिनट बाद ही स्कूटी सवार दो लडक़े गेस्ट हाउस के सामने आए, जिन्होंने गेस्ट हाउस पर फायर किया और दहशत फैलाकर वहां से फरार हो गए। पीडि़त ने फायरिंग करने की सूचना पुलिस को दी। इस दौरान बदमाशों ने वापस कॉल किया और पीडित को ट्रेलर दिखाने की बात कहकर रंगदारी देने के लिए धमकाया और कहा कि अभी पिक्चर बाकी है। पुलिस ने वारदातस्थल के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेजों को खंगाला। जिसमें स्कूटी पर आए दो बदमाश फायरिंग करते नजर आए। पुलिस ने फुटेज व मोबाइल नंबर के आधार पर पड़ताल कर रंगदारी वसूलने के लिए फायरिंग करने के मामले में रूपेश भारद्वाज (19) निवासी मथुरागेट भरतपुर हाल सेक्टर-18 प्रताप नगर, अजय उर्फ बंटी (19) निवासी मथुरागेट भरतपुर, सुशांत दंतात्रेय उर्फ सतीश कुमार (24) निवासी ज्ञान विहार रामनगरिया, सतीश कुमार जाट (24) निवासी पचेरी झुंझुंनू हाल चन्द्र गेस्ट हाउस टोंक रोड और पंकज (21) निवासी मथुरा उत्तरप्रदेश हाल मथुरागेट भरतपुर को गिरफ्तार किया है। जिनके पास से एक देशी पिस्टल, दो देशी कट्टा व 61 कारतूस व वारदात में प्रयुक्त चोरी की स्कूटी बरामद की गई है। थानाधिकारी श्रीमोहन ने बताया कि आरोपितों से पूछताछ में सामने आया कि आरोपित सुशांत दंतात्रोय ने अपने साथी रूपेश व अजय उर्फ बंटी के साथ मिलकर कुशलपाल का मर्डर किया था। पूछताछ में सुशांत दंतात्रोय ने बताया कि बचपन का दोस्त कुशलपाल उर्फ कौशल निवासी कुम्हेर भरतपुर अपराध की दुनिया में काम करता था, इसलिए वह उससे डरता था। घटना से कुछ दिन पहले उसके पास कुशलपाल ने कॉल कर कहा कि वह जयपुर में उसके पास ही रहेगा और कोई बड़ा काम मिलकर करेंगे। कुशलपाल उसके पास जयपुर रहने आ गया और बताया कि जयपुर में किसी बड़े आसामी से रुपये लूटना है। कुशलपाल उससे रोज पैसे डलवाता और परेशान करता था। बहुत ज्यादा परेशान होने पर रूपेश व अजय के साथ मिलकर उसकी हत्या का प्लान किया। करीब पांच दिन पहले रामनगारिया में किराए के फ्लैट में तीनों ने मिलकर उसकी हत्या कर दी। जिसके बाद उसकी बॉडी को टाटा एलटोस में डालकर भरतपुर ले जाकर नाले में डाल दिया था। इसके बाद 14 अप्रैल को चन्द्र गेस्ट हाउस इण्डिया गेट टोंक रोड निवास करने वाले सतीश से मिलकर गेस्ट हाउस संचालक दीपक शर्मा को धमकाकर 50 लाख रुपये रंगधारी की योजना बनायी, जिस पर 11 अप्रैल की रात्रि को सुंशात ने अपने साथी रूपेश व अजय उर्फ बन्टी को सतीश कुमार के बताये अनुसार चन्द्र गेस्ट हाउस पर भेजकर फायरिंग करवायी फिर फोन कर पैसे की मांग की। सुशांत व उसके साथियों द्वारा उक्त वारदात को अंजाम देेने के अलावा एक दर्जन मोबाइल स्नेचिंग, लूट व नकबजनी की वारदात को अजांम दिया है। हिन्दुस्थान समाचार/दिनेश/संदीप