नकली डीजल बनाने का कारोबार पकड़ा, 15 सौ लीटर नकली डीजल बरामद

  नकली डीजल बनाने का कारोबार पकड़ा, 15 सौ लीटर नकली डीजल बरामद
fake-diesel-making-business-caught-15-hundred-liters-of-fake-diesel-recovered

जोधपुर, 22 मई (हि.स.)। शहर की बोरानाडा पुलिस ने गंगाणा- झंवर मार्ग पर एक निजी स्कूल के पास में खेत में नकली डीजल बनाने के कारोबार का पर्दाफाश करते हुए एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। कारोबार चलाने वाला हाथ नहीं लगा है। पुलिस ने मौका स्थल पर15 सौ लीटर नकली डीजल बरामद किया है, साथ ही जनरेटर, पंप सेट, नोजल पंप आदि जब्त किए गए है। पुलिस में अब ईसी एक्ट में केस बनाया गया है। कारोबार करने वाले की सरगर्मी से तलाश की जा रही है। पुलिस आयुक्त जोसमोहन के दिशा निर्देश पर लॉक डाउन में कालाबाजारी रोकने के लिए नकली डीजल पंपों का पता लगाने को कहा गया। इस पर डीसीपी पश्चिम आलोक श्रीवास्तव, एडीसीपी पश्चिम हरफूलचंद, एसीपी बोरानाडा मांगीलाल राठौड़ की टीम ने दिशा निर्देश पर शनिवार को बोरानाडा के गंगाणा झंवर रोड पर आई एक निजी स्कूल के पास में खेत में नकली डीजल कारोबार का पता लगाया। एसीपी राठौड़, थानाधिकारी किशनलाल एवं एसआई संतोषकुमार वहां पहुंचे। तब एक शख्स बाड़मेर के मंडली थानान्तर्गत रोडवाकलां निवासी दल्लाराम पुत्र नेमाराम कार्य करता मिला। उसके यह कार्य जानादेसर झंवर निवासी महेश लेगा पुत्र ओमाराम जाट के लिए करना बताया। पुलिस ने मौका स्थल पर 15 सौ लीटर नकली डीजल के साथ ही नोजल पंप, जनरेटर सेट, मशीनें आदि जब्त किए। घटनास्थल पर बाद में जिला रसद अधिकारी नीलकमल , आईओसीएल के अधिकारी राजन मानेचा, आईओसी के रोहित गुप्ता को भी बुलाया गया। इस नकली डीजल की सेंपलिंग करवाई गई। एसीपी मांगीलाल राठौड़ ने बताया कि यह नकली डीजल जमीन में गड़े दस हजार लीटर के ड्रम में भरा हुआ था, जिसे जब्त कर लिया गया। नकली डीजल तैयार कराने वाले मुकेश लेगा इसको लेकर किसी प्रकार के लाइसेंस की जानकारी नहीं दी। 92 रूपयों के भाव से बेचा जाता: एसीपी राठौड़ ने बताया कि इन दिनों पेट्रोल डीजल के दामों में बढोत्तरी के बाद कालाबाजारी भी बढ़ी है। यह लोग नकली डीजल को भी बाजार भाव यानी 92 रूपए प्रतिलीटर से बेच रहे थे। अब इसमें गहन अनुसंधान कर ईसी एक्ट में केस बनाया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/सतीश / ईश्वर

अन्य खबरें

No stories found.