Cybercrime: 2.25 lakh crossed from bank accounts of three including railway employees
क्राइम

साइबर क्राइम: रेलवे कर्मचारी सहित तीन के बैंक खातों से 2.25 लाख पार

news

जोधपुर, 14 जनवरी (हि.स.)। ऑन लाइन ठगी का क्रम जारी है। साइबर ठग बैंक कर्मचारी बनकर लोगों से ठगी कर खातों प सेंध लगाने से बाज नहीं आ रहे है। शहर में पिछले 24 घंटों में साइबर ठगी के तीन प्रकरण सामने आए है। एक रेलवे कर्मचारी सहित युवती और युवक के खाते से करीबन सवा दो लाख उड़ाने के प्रकरण पुलिस ने दर्ज किए है। पुलिस की साइबर एक्सपर्ट टीमें खातों से निकली रकम को फ्रीज करवाने की कोशिश में लगी है। फिलहाल रकम फ्रिज हुई ऐसी जानकारी नहीं दी गई है। मंडोर पुलिस ने बताया कि गोकूल की प्याऊ के पास दौलत नगर निवासी शुभम सोनी पुत्र आनंद कुमार सोनी ने रिपोर्ट दी। इसमें बताया कि किसी शातिर ने फोन कर खुद को बैंक कर्मचारी बताया और उसके डेबिट कार्ड से ऑनलाइन खरीददारी कर 52 हजार 900 रुपये पार कर लिए। उसने अपनी बैंक से पता किया तो संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर उसने मंडोर थाने में इसकी प्राथमिकी दी। दूसरी तरफ शास्त्रीनगर पुलिस ने बताया कि रेलवे कर्मचारी भगत की कोठी निवासी रमेश कुमार गुर्जर पुत्र रामकरण ने रिपोर्ट दी। इसमें बताया कि किसी ने शख्स ने खुद को बैंक के कस्टमर केयर से बोलना बताया और खाता संबंधी जानकारी जुटाते हुए खाते से 72 हजार रूपए साफ कर दिए। अंजान शख्स ने खुद को आरबी आई से बोलना बताया था। शास्त्रीनगर पुलिस ने आईटी एक्ट एवं धोखाधड़ी मेें यह केस दर्ज किया है। जबकि प्रतापनगर पुलिस ने बताया कि शांतिनाथ नगर बी- 9 में रहने वाली छात्रा सुश्री दीक्षा पुत्री रामदयाल गांधी की तरफ से दी गई रिपोर्ट में बताया कि किसी शातिर ने ऑनलाइन फोन पे से उसके खाते से तीन बार में एक लाख की रकम उड़ा ली। पीडि़ता ने बैंक से भी संपर्क किया, मगर कोई सही जवाब नहीं मिलने पर वह प्रतापनगर पुलिस थाने पहुंची और अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज करवाया। हिन्दुस्थान समाचार/सतीश/संदीप-hindusthansamachar.in