बुजुर्ग ​महिला को बंधक बनाकर लाखों रुपये के जेवरात सहित नकदी लूट भागे बदमाश

बुजुर्ग ​महिला को बंधक बनाकर लाखों रुपये के जेवरात सहित नकदी लूट भागे बदमाश
crooks-looted-cash-including-jewelery-worth-lakhs-of-rupees-by-taking-elderly-woman-hostage

जयपुर, 24 मार्च (हि.स.)। बजाज नगर थाना इलाके में मंगलवार रात को घरेलू नौकर द्वारा अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर एक बुजुर्ग महिला को बंधक बनाकर लाखों रुपये के गहने व नकदी लूटने का मामला सामने आया है। घटना का तब पता चला जब महिला ने जैसे-तैसे करके बंधी हुई कुर्सी से खुद को छुड़ाया और सामने रहने वाले पड़ौसी को सूचना दी। पुलिस ने मामला दर्ज कर बदमाशों की तलाश में जुट गई है। थानाधिकारी रमेश सैनी ने बताया कि घटना बजाज नगर थाने क्षेत्र के विवेक विहार कॉलोनी में हुई है। जहां बुजुर्ग महिला कुसुम लता (65) यहां अकेली रहती है। उसका एक बेटा आशीष जो कि दुबई में रहता है, जबकि दूसरा अभय शर्मा अमेरिका में जॉब करता है। पुराने नौकर के छुट्टी लेकर गांव चले जाने पर सोमवार को ही भावेश नाम का युवक दो दिन पहले ही घरेलू नौकर बनकर काम करने आया था। उसी ने मंगलवार रात करीब 10 बजे अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस ने बताया कि वह मंगलवार रात करीब 10 बजे अपने बैडरूम में कुर्सी पर बैठी थी, तभी पीछे से नौकर आया और उसने आंखों पर कपड़ा पट्टी बांध दी। इस दौरान एक अन्य युवक ने उसके दोनों हाथ पकड़ लिए और उसे धमकाया कि ज्यादा आवाज निकाली तो हाथ में चाकू है उससे गर्दन काट देंगे। इससे घबराकर महिला शांत रही, इसी दौरान लुटेरों ने उसके हाथ-पांव कुर्सी से बांध दिए और मुंह पर एक कपड़ा बांध दिया। इस दौरान जब महिला ने विरोध जताया तो लुटेरों ने महिला को कुछ सूंघाने का प्रयास भी किया, लेकिन महिला ने उसे सूंघे बिना ही बेहोशी का नाटक अचेत हो गई। इस दौरान लुटेरों को लगा कि महिला सचमुच में बेहोश हो गई। इसके बाद महिला के पास रखा चाबी का गुच्छा नौकर ने उठाया और करीब आधा-पौन घंटे तक पूरे घर को खंगालने के बाद अलमारी और उसकी तिजोरी में रखे सोने-चांदी के जेवरात और नकदी चुराकर फरार हो गए। लुटेरों के जाने के करीब आधा घंटे बाद महिला ने खुद के बंधे हाथ कैसे-तैसे करके खोले और बाहर आकर सामने पड़ौसी को सारी वारदात बताई। महिला इतनी घबरा गई थी कि वह ठीक से बोल भी नहीं पा रही थी। इसके बाद पड़ौसी ने पुलिस को सूचना दी। बताया जा रहा है कि आरोपित नौकर भावेश दो दिन पहले ही यहां नौकरी पर लगा था। इससे पहले हनुमान नाम का युवक यहां पिछले डेढ़-दो साल से नौकरी करता था। हनुमान ने तीन-चार दिन पहले गांव जाने की बात कही थी। तब महिला कुसुमलता ने उससे न जाने के लिए कहा ताकि घर सूना न रहे। इस पर हनुमान ने ही भावेश को लगवाने की बात कही। हनुमान स्वयं बिहार का रहने वाला है और दिल्ली की एक कंपनी के माध्यम से यहां लगा था। उसी कंपनी के माध्यम से भावेश को यहां लगाया गया था। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और घटना का जायजा लिया। लुटेरे नौकर व साथी बदमाशों की तलाश में तुरंत पुलिस टीम को रवाना किया गया। पुलिस वारदातस्थल के आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेजों को खंगालने के साथ ही लूटेरों की तलाश कर रही है। इधर बिहार निवासी भावेश नाम के नौकर का पुलिस वेरिफिकेशन भी नहीं हुआ था। एक दिन अच्छे से काम काज करने के बाद ही उसने लूट की योजना बना डाली। हिन्दुस्थान समाचार/दिनेश/संदीप

अन्य खबरें

No stories found.