civil-defense-volunteer-and-engineer-youth-along-with-his-colleagues-kidnapped-youth-and-demanded-ransom-of-five-lakhs-four-arrested
क्राइम

सिविल डिफेंस वालंटियर व इंजीनियर युवक ने अपने साथियों के साथ मिलकर युवक को अगवा कर मांगी पांच लाख की फिरौती, चार गिरफ्तार

news

नई दिल्ली, 02 फरवरी (हि.स.)। मध्य दिल्ली के दरियागंज इलाके से सिविल डिफेंस वालंटियर व इंजीनियर युवक ने अपने साथियों के साथ मिलकर एक अन्य युवक को अगवा कर दिया। वारदात के बाद आरोपियों ने पीड़ित सादिक के परिजनों से पांच लाख रुपये की फिरौती मांगी। पत्नी की शिकायत पर लोकल पुलिस ने स्पेशल स्टाफ के साथ मिलकर चंद ही घंटों में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर पीड़ित सादिक को सकुशल बरामद कर लिया। पुलिस ने इस संबंध में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान लोनी गाजियाबाद निवासी स्वपनिल (26), बागपत यूपी निवासी फरमान (22), लोनी गाजियाबाद निवासी विजय कुमार (25), रोहिणी, दिल्ली निवासी अर्पित शर्मा (23) के रूप में हुई है। स्वपनिल मैकेनिकल इंजीनियर है, वहीं फरमान सिविल डिफेंस वालंटियर है। पुलिस ने आरोपियों के पास से वारदात में इस्तेमाल शेवरले क्रूज कार, चार मोबाइल, एक पिस्टल, दो कारतूस और कैश बरामद हुआ है। पुलिस मामले में इनके गैंग लीडर हनी उर्फ आकाश उर्फ सन्नी की तलाश है। मध्य जिला पुलिस उपायुक्त जसमीत सिंह ने बताया कि सोमवार तड़के 3.30 बजे कार सवार बदमाशों ने दरियागंज सब्जी मंडी से सादिक नामक युवक को अगवा कर लिया था। वारदात के समय सादिक अपनी पत्नी के साथ तड़के कैब से सब्जी मंडी आया था। करीब 5.00 बजे आरोपियों ने सादिक की पत्नी और और उसके दोस्त सरफराज के मोबाइल पर कॉल कर पांच लाख रुपये की फिरौती मांगी। सादिक की पत्नी ने मामले की शिकायत दरियागंज थाना पुलिस से की। फौरन एसएचओ दरियांगज इंस्पेक्टर संजय कुमार, स्पेशल इंस्पेक्टर ललित व अन्यों की टीम ने जांच शुरू कर दी। पुलिस ने कॉल के नंबर की जांच की तो वह स्विच ऑफ हो गया। इस बीच आरोपी सादिक के मोबाइल से ही कॉल कर लगातार रुपयों की मांग करते रहे। टेक्नीकल सर्विलांस की मदद से पुलिस चंद ही घंटों बाद डीएलएफ, अंकुर विहार, गाजियाबाद पहुंच गई। वहां से पुलिस ने सादिक को सकुशल मुक्त कराकर चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि सादिक एक प्राइवेट होटल में नौकरी करता था। वर्ष 2019 में हनी नामक बदमाश सादिक से रंगदारी मांग रहा था। तभी सादिक ने हनी के खिलाफ नबी करीम थाने में जबरन वसूली का मामला दर्ज करा दिया। तभ से हनी सादिक से बदला लेनेे चाहता था। सोमवार तड़के हनी के कहने पर ही चारों ने सादिक को दरियागंज से अगवा कर फिरौती मांगी। पूछताछ के दौरान स्वपनिल लॉक डाउन से पूर्व कुवैत में इंजीनियर की नौकरी करता था। कोरोना की वजह से वह वापस भारत आ गया था। रोजगार न होने की वजह से वह अपराधिक गतिविधियों में लिप्त हो गया। पुलिस हनी की तलाश कर रही है। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी-hindusthansamachar.in