चैन,मोबाइल स्नैचिंग और वाहन चोरी की वारदात करने वाले गिरोह का पर्दाफाश

चैन,मोबाइल स्नैचिंग और वाहन चोरी की वारदात करने वाले गिरोह का पर्दाफाश
chain-mobile-snatching-and-vehicle-theft-gang-busted

जयपुर, 20 जून (हि.स.)। शास्त्रीनगर,माणक चौक थाना पुलिस और जिला स्पेशल टीम उत्तर ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए चैन, मोबाइल स्नैचिंग और वाहन चोरी की वारदात करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए गिरोह के सात बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपितों के पास से सात दुपहिया वाहन,एक सोने की चैन, 21 मोबाइल सहित एक लेपटॉप बरामद किया है। आरोपित ने पूछताछ में जयपुर शहर में सात चैन स्नैचिंग सहित 500 मोबाइल स्नैचिंग की वारदात करना कबूला है। आरोपितो के तार मेवात गिरोह के जुडे होने की आंशका के चलते पूछताछ की जा रही है। पुलिस उपायुक्त जयपुर उत्तर परिस देशमुख ने बताया कि जिला स्पेशल टीम जयपुर उत्तर, शास्त्रीनगर और माणकचौक की टीम द्वारा दुपहिया वाहन चोरी,चैन और मोबाईल स्नैचिंग की वारदात करने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर सोहिल उर्फ भल्ला निवासी तोपचीवाड़ा मौहल्ला मनोहरपुर जिला जयपुर ग्रामीण हाल शास्त्री नगर, शाहरूख खान निवासी भट्टा बस्ती ,ईस्माईल निवासी बजरंग नगर भट्टा बस्ती ,वसीम उर्फ सुस्सा निवासी जुरहरा जिला भरतपुर हाल भट्टा बस्ती,नदीम उर्फ निवासी जुरहरा जिला भरतपुर, ईरशाद खान निवासी जुरहरा जिला भरतपुर और कयूम खान निवासी गांव लाडलका जुरहरा जिला भरतपुर को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपितो के पास स चोरी गई छह बाइक,एक एक्टिवा, एक सोने की चैन व 21 स्नैचिंग किये हुये मोबाइल बरामद की है। आारोपितों से पूछताछ में सामने आया कि इन सबकी एक गैंग हैं जो सबसे पहले दुपहिया वाहन चोरी कर उसी वाहन से स्नैचिंग की वारदात कर छीने हुये मोबाईल को मोबाईल हैकर कयूम खान व ईरशाद खान के पास ले जाकर उनसे मोबाईल का लोक तुड़वाकर मेवात क्षेत्र में खपा देते हैं। आरोपितों ने सात चैन स्नैचिंग 500 मोबाईल स्नैचिंग की वारदाते पिछले कुछ वर्षो में करना कबूला है। आरोपित नशे के जो आदतन अपराधी हैं जो स्मैक का नशा करने के लिये सबसे पहले दुपहिया वाहन चोरी करते हैं फिर चोरी की गई वाहन से चैन स्नैचिंग व मोबाईल स्नैचिंग की वारदात को अंजाम देते हैं। छिने हुए मोबाइल और सोने की चैन सहित अन्य सामान को बेचने के लिये मेवात क्षेत्र में कयूम खान व ईरशाद खान के पास लेकर जाते है। दोनो मोबाईल फोन के हैकर हैं जो लेपटोप के द्वारा सोफ्टवेयर के माध्यम से हर प्रकार के मोबाइल का लोक तोड़ देते हैं। मोबाइल के लोक खोलकर उन्ही मोबाइल फोन से पूरे देश में ठगी की एक- दो वारदात कर मोबाइल डिस्मेन्टल कर मोबाइल के पार्टस को मेवात क्षेत्र मे ही बेच देते हैं। गौरतलब है कि राजस्थान में मेवात का क्षेत्र आनलाईन ठगी का मुख्य केन्द्र बन चुका हैं जिसमें नई पीढी के बच्चे जुड़कर वारदातों को अन्जाम दे रहे हैं। आरोपितों से मेवात की कई सक्रिय गैंग के बारे में महत्वपूर्ण सुराग मिले है। हिन्दुस्थान समाचार/दिनेश/ ईश्वर

अन्य खबरें

No stories found.