brother-in-law-murdered-brother-in-law-with-ax-caught
brother-in-law-murdered-brother-in-law-with-ax-caught
क्राइम

जीजा ने ही की थी कुल्हाड़ी से मारकर साले की हत्या,पकड़ा

news

नई दिल्ली, 03 अप्रैल (हि.स.)। बाहरी उत्तरी जिले के नरेला औद्योगिक क्षेत्र स्थित राजीव रतन आवास योजना के फ्लैटों में बीते गुरुवार की सुबह एक लापता व्यक्ति का शव पड़ा मिला था। शव के शरीर पर धारदार हथियार के अनगिनत निशान थे। जिसके शरीर को आधा जलाकर उसकी पहचान छुपाने की कोशिश की गई थी। बवाना पुलिस ने वारदात में शामिल मृतक के जीजा को गिरफ्तार किया है। आरोपित की पहचान पन्ना लाल उर्फ पवन उर्फ विनोद के रूप में हुई है। आरोपित ने अपने साले की इसलिए हत्या कर दी थी, क्योंकि उसका साला उधार दिये पैसे मांग रहा था। जिससे आरोपित परेशान हो चुका था। डीसीपी राजीव रंजन ने बताया कि एक अप्रैल की सुबह कंझावला महावीर विहार में रहने वाले करण कुमार की उसके परिवार वालों ने गुमशुदगी दर्ज करवाई थी। जबकि परिवार वालों ने करण का अधजला शव नरेला औद्योगिक क्षेत्र स्थित राजीव रतन आवास योजना के फ्लैटों की दूसरी मंजिल पर स्थित एक कमरे से बरामद किया था। सीढियों व कमरों में काफी ज्यादा खून पड़ा था। करण के शरीर पर अनगिनत निशान थे। उसको जलाकर पहचान छुपाने की कोशिश की गई थी। पुलिस ने शव को कब्जे में लिया। परिवार वालों ने करण के जीजा पन्ना लाल उर्फ पवन उर्फ विनोद पर शक जाहिर किया था। जिसने करण को घर से फोन पर बुलाया था। लेकिन बाद में पन्ना लाल ऐसी किसी बात से मना कर रहा था। वारदात के बाद से ही पन्नालाल गायब था। जिसकी तलाश में पुलिस टीम छापेमारी कर रही थी। जिला की स्पेशल स्टॉफ में तैनात इंस्पेक्टर राम स्वरूप मीणा की देखरेख में सब इंस्पेक्टर जयबीर हेड कांस्टेबल नरेन्द्र,अनिल मालिक,अनिल कुमार कांस्टेबल हनुमान और विकास को आरोपित को पकड़ने का जिम्मा सौंपा गया। पुलिस टीम ने उसके कई ठिकानों पर छापेमारी की। पीडि़त परिवार और आरोपी के परिवार वालों से उसके बारे में पूछताछ की। इस बीच एक पुख्ता सूचना पर सेक्टर-4 बवाना इंडस्ट्रियल एरिया इलाके से दबोच लिया। आरोपित से पूछताछ करने पर पता चला कि आरोपित की पत्नी मीना का देहांत हो जाने के बाद करण उसे भांजे को प्रॉपर्टी देने के लिए कहा करता था। इसके अलावा उसने करण से 29 हजार रुपये उधार लिये थे। लेकिन वह पैसे वापिस करने में असमर्थ था। करण उसपर पैसे वापिस लेने का दबाव बना रहा था। वह इस बात को जानकारों व रिश्तेदारों में कहने के लिए कहता था। जिससे वह काफी परेशान हो चुका था। इसलिए उसने करण को मारने की योजना बनाई थी। अनाज मंडी से उसने एक कुल्हाड़ी और शराब की बोतल खरीदी थी। उसने करण को बहाने से वारदात वाली जगह पर बुलाया था। करण के साथ शराब का सेवन किया। जब करण नशे में हो गया। उसपर कुल्हाड़ी से अनगिनत वार किये और उसको जलाने की कोशिश की। जिससे उसकी पहचान न हो सके। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी