छात्रवृत्ति घोटाले में आरोपित की जमानत अर्जी खारिज

छात्रवृत्ति घोटाले में आरोपित की जमानत अर्जी खारिज
bail-application-of-accused-in-scholarship-scam-rejected

नैनीताल, 16 जून (हि.स.)। प्रभारी जिला एवं सत्र न्यायाधीश, प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश प्रीतू शर्मा की अदालत ने प्रदेश के बहुचर्चित समाज कल्याण विभाग के करोड़ों रुपये की छात्रवृत्ति घोटाले में आरोपित जिला समाज कल्याण अधिकारी के कार्यालय में तैनात तत्कालीन पटल सहायक मोहन गिरि पुत्र अमर गिरि निवासी ग्राम भेंटी शांत बाजार जिला चंपावत की जमानत अर्जी खारिज कर दी है। जमानत अर्जी का विरोध करते हुए जिला शासकीय अधिवक्ता फौजदारी सुशील कुमार शर्मा ने बताया कि आरोपित पर तत्कालीन जिला समाज कल्याण अधिकारी जगमोहन कफोला के साथ 26 छात्रों के नाम पर 20.63 लाख रुपये से अधिक की धनराशि छात्रों के जाति, आय व शैक्षिक प्रमाण पत्र भौतिक सत्यापन किए बिना जारी करने का आरोप है। उन पर यह प्रपत्र जांच कर ही चेक जारी करने का दायित्व था। यह चेक डिस्पैच रजिस्टर में अंकित किए बिना मेमो के रूप में आरोपित मोनाड यूनिवर्सिटी के प्रतिनिधि अंकित अग्रवाल द्वारा जिला सहकारी बैंक हापुड़ को भेजे गए। इस आधार पर अदालत ने आरोपित की जमानत अर्जी खारिज कर दी। हिन्दुस्थान समाचार/डॉ.नवीन जोशी

अन्य खबरें

No stories found.