45 वाहनो के फर्जी रजिस्ट्रेशन करवाने वाले दलाल सहित एक आरटीओ कर्मचारी गिरफ्तार

45 वाहनो के फर्जी रजिस्ट्रेशन करवाने वाले दलाल सहित एक आरटीओ कर्मचारी  गिरफ्तार
an-rto-employee-including-a-broker-who-got-fake-registration-of-45-vehicles-arrested

जयपुर, 18 मार्च (हि.स.)। खोह नागोरियान थाना,जयपुर पुलिस कमिश्नरेट की स्पेशल टीम (सीएसटी)और पूूर्व जिला स्पेशल टीम (सीएसटी) ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए 45 वाहनो के फर्जी रजिस्ट्रेशन करवाने वाले गिरोह का खुलासा करते हुए दलाल सहित एक आरटीओ कर्मचारी को गिरफ्तार किया है। जिनसे पूछताछ की जा रही है। अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर (प्रथम) अजयपाल लाम्बा ने बताया कि खोह नागोरियान थाना,जयपुर पुलिस कमिश्नरेट की स्पेशल टीम (सीएसटी)और पूूर्व जिला स्पेशल टीम (सीएसटी) ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए 45 वाहनो के फर्जी रजिस्ट्रेशन करवाने वाले गिरोह का खुलासा करते हुए फर्जी रजिस्ट्रेशन मे शामिल दलाल नजीर अहमद (46) निवासी आईशा नगर खोह नागोरियान व जहांगीर खान (32)निवासी संजय नगर झोटवाडा हाल कर्मचारी आरटीओ आफिस झालाना डूंगरी जयपुर को गिरफ्तार किया है। आरोपितों से पूछताछ में सामने आये कि सभी वाहनो की झूठी चोरी का मामला दर्ज करवाया कर आरोपित इन्जिन व चैचिस नम्बर बदलकर फर्जी रजिस्ट्रेशन करवाते है तथा फर्जी नाम पते भरकर रजिस्ट्रेशन करवा लेते है। थानाधिकारी भवानी सिंह ने बताया कि 16 फरवरी को परिवाहन अधिकारी जाकिर हुसैन द्वारा मुकदमा दर्ज करवाया कि माह जनवरी 2018 मे वाहन संख्या आर जे 14 जीजे 9547 के लोन निरस्तीकरण का आवेदन प्राप्त हुआ जिसका रजिस्ट्रेशन आरटीओ कार्यालय जगतपुरा द्वारा किया गया था। इतनी कम अवधि मे लोन समाप्त होने व अनापति प्रमाण पत्र चाहने पर संदिग्धता पाई जाने पर जुलाई 2018 से जनवरी 2019 तक क्रय कर लाये गये एवं अस्थाई पंजीयन प्रमाण पत्र की पत्रावलियो का अवलोकन करने पर 45 वाहन संदिग्ध पाये गये। यह वाहन टाटा मैसर्स, अशोक लिलेण्ड, मैसर्स वीई कामर्शियल द्वारा विनिर्मित होना नही पाया गया। जिस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर इन 45 वाहनो के विभिन्न कम्पनियो टाटा मैसर्स, अशोक लिलेण्ड, मैसर्स वीई कामर्शियल से रिकार्ड प्राप्त किया गया। रिकाॅर्ड से स्पष्ट हुआ की यह सभी वाहन कभी इन कम्पनीज द्वारा निर्मित ही नहीं किया गया। इन वाहनों का लोन दाता कम्पनीज द्वारा कभी लोन ही नही दिया गया। आरोपितों ने फर्जी लोन दस्तावेज तैयार कर रजिस्ट्रेशन के दौरान दलाल नजीर अहमद द्वारा सभी 45 वाहनो पर अपने मकान का किरायानामा लगाकर आरटीओ कर्मचारियो के साथ मिलीभगत कर फर्जी रजिस्ट्रेशन करवाया है। जिस पर कडी से कडी जोडते हुए आरोपितों को गिरफ्तार किया है। फिलहाल आरोपितों से पूछताछ की जा रही है पूछताछ में कई चौकाने वाले खुलासे हो सकते है। हिन्दुस्थान समाचार/दिनेश/ ईश्वर