‘22 वर्षों से भगोड़ा चल रहा आतंकियों का मददगार काबू‘

‘22 वर्षों से भगोड़ा चल रहा आतंकियों का मददगार काबू‘
39helpful-control-of-fugitive-terrorists-running-for-22-years39

उधमपुर/रियासी, 7 जून (हि.स.)। रियासी पुलिस ने आतंकवादियों को आश्रय और अन्य रसद प्रदान करने के एक भगोड़े आरोपी को 22 वर्षों के उपरांत गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। आरोपी मोहिउद्दीन पुत्र समदू निवासी शिकारी, तहसील माहौर, जिला रियासी, एफआईआर 82/1999 दिनांक 22 जून 1999 अंडर सैक्शन 212, 216 आरपीसी थाना माहौर में दर्ज मामले में वांछित था। वहीं आरोपी पर केस एफआईआर साबित होने पर पुलिस ने जब इसका चालान अदालत में पेश किया तो आरोपी भूमिगत हो गया और जांच की कार्यवाही में भाग लेने से बच गया। पुलिस 1999 में मामला दर्ज होने के बाद से उसे गिरफ्तार नहीं कर सकी। वहीं अदालत जेएमआईसी माहौर द्वारा 18 फरवरी 2002 को आरोपी के खिलाफ सीआरपीसी की धारा-512 के तहत वारंट जारी किया गया था। पुलिस ने इनपुट विकसित करने के बाद सावधानीपूर्वक योजना और समन्वित प्रयासों से पुलिस स्टेशन माहौर की टीम ने अपराधी को गिरफ्तार कर लिया। यह रियासी पुलिस द्वारा 6 सप्ताह की अवधि के भीतर 14वें भगोड़े की गिरफ्तारी की है, जिसके विरुद्ध सीआरपीसी के तहत वारंट लम्बित था। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रियासी शैलेंद्र सिंह ने रियासी पुलिस की अपनी टीम के लिए संतोष और प्रशंसा व्यक्त की है। हिन्दुस्थान समाचार/रमेश/बलवान ---------