अंतरराज्यीय गिरोह के 15 लुटेरे गिरफ्तार, लाखों रुपये का माल व अवैध हथियारों का जखीरा बरामद

अंतरराज्यीय गिरोह के 15 लुटेरे गिरफ्तार, लाखों रुपये का माल व अवैध हथियारों का जखीरा बरामद
15-robbers-of-interstate-gang-arrested-goods-worth-lakhs-of-rupees-and-illegal-arms-recovered

शाहजहांपुर, 20 जून (हि.स.)। उत्तर प्रदेश के जनपद शाहजहांपुर में रविवार सुबह कई थानों की पुलिस और एसओजी की टीम ने संयुक्त रूप से अंतरराज्यीय गिरोह के सरगना समेत 15 लुटेरों को गिरफ्तार कर लिया। लुटेरों के कब्जे से लाखों रुपये का चोरी किया गया माल व अवैध हथियारों का जखीरा भी बरामद हुआ है। पुलिस अधीक्षक एस.आनन्द ने रविवार अपराह्न बताया कि जिले में बढ़ रही चोरी की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस की कई टीमें गठित की गई थी। रविवार सुबह जलालाबाद रोड पर खैरपुर जाने वाले कच्चे रास्ते पर थाना कटरा, तिलहर, खुदागंज, जैतीपुर, गढ़िया रंगीन, स्वाट व सर्विलान्स टीम की बदमाशों से मुठभेड हो गई। टीम ने संयुक्त रूप से कार्यवाही करते हुए जनपद बरेली निवासी सुखपाल, मिशरार, आमिन, निसार, नाज मोहम्मद, बदायूं निवासी अनीस व इरफान, लखीमपुर निवासी अतीक तथा जनपद शाहजहांपुर निवासी मुनीश कुमार उर्फ त्यागी, धर्मेंद्र गुप्ता, साने आलम, वशुदेव, मिदरी, अजीज व इकबाल को गिरफ्तार कर लिया। लुटेरो के कब्जे से 19 लाख 72 हजार रुपये के जेवरात, करीब 23 हजार पांचों सौ रुपये, दो लग्जरी कार, एक मोटरसाइकिल और भारी मात्रा में अवैध हथियार बरामद हुए हैं। लग्जरी गाड़ियों और कच्छा बनियान पहनकर जाते थे डकैती डालने पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पकड़े गए लुटेरे लग्जरी गाड़ियों में चलते थे। घटनाओं को अंजाम देने से पहले यह सभी लोग अपने मोबाइल फोन को बंद कर देते और कुछ दूरी पर गाड़ी खड़ी कर अपने कपड़े भी उतार देते हैं। जिसके बाद यह लोग कच्छा और बनियान पहन घटना को बड़ी ही आसानी से अंजाम दे देते हैं। लुटेरे लग्जरी गाड़ियों का इस्तेमाल इसलिए करते थे ताकि गाड़ी देख कर किसी को शक भी न हो। गड़बड़ी होने पर पशु-पक्षियों की आवाज में करते थे बातें पुलिस पूंछतांछ में बदमाशों ने बताया की डकैती अथवा चोरी करते वक्त अगर कहीं कुछ गड़बड़ होता या कोई जाग जाता तो सभी लुटेरे पशु-पक्षियों की अलग-अलग आवाज निकालकर भागने का इशारा देते हैं। आवाज सुनकर सब सचेत हो जाते और फिर भाग जाते हैं। काली मां की पूजा के लिए चोरी के माल से निकालते थे एक हिस्सा लुटेरे काली मां उपासक भी है। एसपी ने बताया की लुटेरे चोरी और लुटे गए माला का बराबर हिस्सा करते थे। कुछ हिस्सा काली मां की पूजा पाठ के लिए निकाला जाता है। उस हिस्से से सिमरा गोटिया के लटाधारी बाबा से पूजा पाठ कराते हैं और अगली चोरी के लिए काली मां से आशीर्वाद लेकर चोरी करने के लिए निकल जाते हैं। उत्तर प्रदेश से लेकर राजस्थान और अन्य प्रदेशों तक जाते हैं चोरी करने पुलिस अधीक्षक एस आनंद ने बताया कि लुटेरे काफी शातिर हैं। लुटेरो ने शाहजहांपुर, सीतापुर, प्रतापगढ, वाराणसी, गोरखपुर, महराजगंज में नकबजनी की कई घटनाएं कबूली है। उत्तर प्रदेश के अलावा इनके द्वारा बिहार, पंजाब, हरियाणा दिल्ली व राजस्थान में घटनायें की गई। उक्त जनपदों व राज्यों को पकड़े गए लुटेरो का विवरण भेज कर जानकारी जुटाई जा रही है। हिन्दुस्थान समाचार/अमित/विद्या कान्त

अन्य खबरें

No stories found.