12-people-running-fake-call-centers-arrested
12-people-running-fake-call-centers-arrested
क्राइम

फर्जी कॉल सेंटर चलाने वाले 12 लोग गिरफ्तार

news

नई दिल्ली, 08 अप्रैल (हि.स.)। दिल्ली के बाहरी जिला स्पेशल स्टॉफ ने फर्जी कॉल सेंटर चलाने वाले एक गैंग का पर्दाफाश किया है, जो फर्जी लुभावनी स्किम देकर लोगों से पैसे ऐंठते थे। कॉल सेंटर चलाने वाले 12 लोगों को गिरफ्तार कर सेंटर को सील कर दिया है। आरोपितों की पहचान चिराग, संतोष, किरण, हन्नी, राखी शर्मा, कमल, ओमवती, राखी, अभिषेक, वर्षा, पूजा और कृष्णा के रूप में हुई है। पुलिस ने इनके कब्जे से 12 मोबाइल फोन,12 सिमकार्ड, एक कंप्यूटर, 15 रजिस्टर और कई सारे ऑर्डर फॉर्म जब्त किये हैं। डीसीपी परमिन्दर सिंह ने बताया कि स्पेशल स्टॉफ को आरजेड-110 दूसरी मंजिल मंगोलपुर खुर्द में फर्जी कॉल सेंटर चलने की जानकारी मिली थी। गैंग झूठी स्कीम का झांसा देकर लोगों से धोखाधड़ी करके रुपये ऐंठने का काम कर रहे हैं। इंस्पेक्टर अजमेर सिंह की देखरेख में पुलिस टीम को आरोपितों को पकड़ने का जिम्मा सौंपा गया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर छापेमारी की। संतोष नामक लड़की काम करने वालों को दिशा निर्देश दे रही थी। सभी को मौके पर गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ करने पर पता चला कि इनको कृष्ण फोन पर बात करने के लिए लोगों का डाटा मुहैया करवाया करता था, जिसके बाद फोन पर बात करके लड़कियां लोगों को बहकाया करती थी। आरोपित कृष्ण से पूछताछ करने पर पता चला कि वह पिछले साल ऑन लाईन फोन की सप्लाई का काम कर रहा था लेकिन कारोबार में काफी नुकसान हो गया था। तभी उसको इस तरह से कॉल सेंटर चलाकर लोगों से पैसे ऐंठने का आइडिया आया था। जब पीड़ित स्किम लेने के लिए राजी हो जाया करता था और वह पैसे भी भेज दिया करता था। पीड़ित को पैकेट में प्लास्टिक का फोन भेज दिया करते थे। जब पीड़ित इनको फोन किया करता था वो मिलता नहीं था। गैंग हर रोज दो से तीन लोगों को इस तरह से बेवकूफ बनाया करते थे। पीड़ित को फोन करने पर महिला कॉलर कुछ इस तरह से करती थी बातें गुड मॉर्निंग सर, हम एमआई कंपनी से बात कर रहे हैं। सर आपको एक एमआई नॉट 9 प्रो मैक्स 4जी फोन डिस्काउंट ऑफर में दिया जा रहा है। यदि मार्किट से इस फोन को खरीदते हैं तो ये फोन आपको 14999 रुपये का मिलेगा। कंपनी आपको डिस्काउंट में दे रही है। क्या आप स्किम लेना चाहेगें। अगर पीड़ित स्किम लेने के लिए राजी हो जाया करता था। उससे पैसे पहले ही जमा करवा लिया करते थे। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी