हिमाचल में तीन वर्षों में बलात्कार की 1134 घटनाएं
क्राइम

हिमाचल में तीन वर्षों में बलात्कार की 1134 घटनाएं

news

शिमला, 07 सितंबर (हि.स.)। हिमाचल प्रदेश में बीते तीन वर्षाें में बलात्कार के 1134 मामले पंजीकृत हुए हैं। सबसे ज्यादा 162 मामले मंडी जिला में सामने आए हैं। इसके अलावा 159 शिमला जिला में, 149 सिरमौर जिला में, 148 कांगड़ा जिला में, 98 कुल्लू जिला में, 87 सोलन जिला में, 75 बिलासपुर जिला में, 70 ऊना जिला में, चंबा और हमीरपुर में 54-54, पुलिस जिला बद्दी में 51, किन्नौर में 25 और लाहौल स्पिति में दो मामले दर्ज किए गए। इस अवधि में गैंगरेप के भी 43 मामले दर्ज किए गए। विधायक मुकेश अग्निहोत्री के एक सवाल के लिखित जवाब में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सोमवार को यह जानकार दी। उन्होंने बताया कि बलात्कार की घटनाओं में 925 मामलों में अपराधियों के खिलाफ चालान तैयार करके अदालत में दाखिल किए गए हैं। इन घटनाओं में 30 मामलों में अपराधियों को सजा हुई। विधायक विनय कुमार के एक सवाल के लिखित उत्तर में सदन को बताया गया कि रेणुका डैम प्रोजेक्ट की सारी औपचारिकताएं पूर्ण कर ली गई हैं। केवल आर्थिक मामलों की मंत्रिमण्डलीय समिति की स्वीकृति शेष है। सदन को बताया गया कि इस परियोजना का कार्य पैसा उपलब्ध होने के बाद ही आरंभ किया जाएगा। इस परियोजना के लिए केंद्र सरकार 5982.71 करोड़ और हिमाचल प्रदेश सरकार 50.91 करोड़ रुपए खर्च करेगी। परियोजना प्रभावित परिवारों को बसाने के लिए हिमाचल प्रदेश ऊर्जा निगम ने 417 बीघा से अधिक जमीन खरीदी है। पुनर्वास तथा पर्नस्थापना योजना के प्रावधानों के अनुसार 259 विस्थापित परिवारों में से 127 परिवारों से विकल्प पत्र प्राप्त हो गए हैं। 132 परिवारों से विकल्प पत्र प्राप्त करने की प्रक्रिया जारी है। विधायक हीरालाल के एक सवाल के लिखित जवाब में सदन को बताया गया कि गत तीन वर्षों में विभिन्न आवास योजनाओं के तहत प्रदेश में 15276 आवास आबंटित किए गए। विधायक रामलाल ठाकुर के एक सवाल के लिखित जवाब में बताया गया कि श्रीनयना देवी जी विधानसभा क्षेत्र के तहत स्वास्थ्य विभाग में विभिन्न श्रेणियों के 42 पद खाली हैं और इन पदों को भरने की प्रक्रिया जारी है। हिन्दुस्थान समाचार/उज्जवल/सुनील-hindusthansamachar.in