सोशल मीडिया पर दोस्ती का झांसा दे एक युवती ने बुजुर्ग के खाते से निकाले 32 लाख रुपये
क्राइम

सोशल मीडिया पर दोस्ती का झांसा दे एक युवती ने बुजुर्ग के खाते से निकाले 32 लाख रुपये

news

जयपुर,02अगस्त(हि.स.)। वैशाली नगर थाना इलाके में सोशल मीडिया पर दोस्ती का झांसा दे एक युवती ने बुजुर्ग के खाते से 32 लाख 28 हजार रुपये निकालने का मामला सामने आया है। ऑनलाइन ठगी की इस वारदात में आरोपित युवती अभी तक अज्ञात बताई जा रही है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार वारदात का शिकार गांधीपथ निवासी विनोद शर्मा ने विशेष अपराध एवं साइबर क्राइम थाने में मामला दर्ज करवाया है कि पीड़ित बीएसएनएल विभाग से सेवानिवृत कर्मचारी है। सोशल मीडिया के जरिए मार्च मार्च में फर्जी आईडी के जरिए में एक व्हाट्सअप नंबर से चैट हुई थी। उधर से जालसाज ने लड़की की आवाज में बात की तो पीड़ित झांसे में आ गया और जुलाई माह तक बात करता रहा। इन महीनों में जालसाज द्वारा समय-समय पर अपनी जरुरत के लिए रुपयों की मांग की जाती रही और पीड़ित दिए गए बैंक खाते में रूपए डलवाता चला गया। मार्च से जुलाई माह के दौरान पीड़ित द्वारा 32 लाख 28 हजार रुपये जालसाज के खाते में ट्रांसफर किए गए। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर बैंक ट्रांजेक्शन के आधार पर जांच शुरू की है। परिचित बनकर की एक लाख रुपये की ठगी इधर मालवीय नगर थाना इलाके में परिचित की आवाज में बात करके एक ठग ने एक लाख रुपये ठग लिए। वारदात का पता चलने पर पीडित थाने पहुंचा मामला दर्ज करवाया। पुलिस के अनुसार वारदात का शिकार समीर दरबारी ने विशेष अपराध एवं साइबर क्राइम थाने में मामला दर्ज करवाया है कि पीड़ित निजी कम्पनी में जॉब करता है। 31 जुलाई की शाम को उसके पास मोबाइल पर कॉल आया था। जहां सामने वाला उसके परिचित की तरह बात कर रहा था। आरोपित ठग ने बातों में फंसाया और कहा कि किसी दोस्त को चार लाख रुपये की जरुरत है, तीन लाख का कलेक्शन तो हो चूका है एक लाख रुपये कम पड़ रहे है आप मदद कर दो, जल्दी लौटा देंगे। पीड़ित झांसे में आ गया और दो बार में 50-50 हजार रुपये कुल एक लाख रुपये बताए गए खाते में ट्रांसफर कर दिए। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। हिन्दुस्थान समाचार/दिनेश/संदीप-hindusthansamachar.in