सिपाही समेत तीन की सामूहिक हत्या में 14 नामजद
सिपाही समेत तीन की सामूहिक हत्या में 14 नामजद
क्राइम

सिपाही समेत तीन की सामूहिक हत्या में 14 नामजद

news

बांदा, 21 नवम्बर (हि.स.)। बांदा शहर मुख्यालय के चमरौडी मोहल्ले में आधी रात को प्रयागराज में तैनात कांस्टेबल अभिजीत वर्मा उनकी मां और बहन की निर्मम हत्या मामले में मृतक सिपाही के भाई ने कोतवाली में 14 लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा पंजीकृत कराया है। जिसमें चार महिलाएं भी आरोपी है। एफआईआर में झगड़े की सूचना देने के बाद भी पुलिस पर कार्रवाई न करने का आरोप भी लगाया गया है। मृतक सिपाही के भाई सौरभ कुमार ने कोतवाली में दी गई तहरीर में बताया है कि 20 नवम्बर की रात लगभग 10 बजे परिवारिक पड़ोसियों सोमचंद पुत्र शिवराज, धर्मेंद्र पुत्र शिवराज, देवराज पुत्र भगवानदीन, रज्जो पत्नी देवराज, शिवपूजन पुत्र भगवानदीन, धर्मवली पत्नी शिवपूजन, सुरेश उर्फ बबल पुत्रू भगवानदीन, राज उर्फ गोपी पुत्र देवराज, शकुंतला पत्नी सोमचंद, सूरज पुत्र रामचरण, कामता पुत्र सुखदेव, रोहित पुत्र सुखदेव, शिववति पत्नी धर्मेंद्र मछला पत्नी शिवराज आदि ने मिलकर नाली में कूड़ा डालने के विवाद को लेकर मेरी मां रमापति, बहन निशा कुमारी व भाई अभिजीत की लाठी, डंडा, कुल्हाड़ी, चाकू, सरिया आदि से मारकर निर्मम हत्या कर दी है। घटना के एक दिन पहले रात में बबलू, देवराज, शिवपूजन, रज्जो व राज ने कूड़ा डालने के विषय में गाली गलौज किया था और मृतकों को जान से मारने की धमकी दी थी। इस बात की शिकायत 20 नवम्बर को मेरे भाई अभिजीत ने स्थानीय पुलिस चौकी के दीवान राजा सिंह को प्रार्थना पत्र दिया था। किंतु उन्होंने कोई कार्रवाई करने के बजाय भाई अभिजीत को डांटा तथा सोमचंद आदि का पक्ष लिया था। अभिजीत जब तक जिंदा था तो वह सारी सूचना मुझे फोन से देता रहा तथा बातचीत भी होती रही। मारपीट की सूचना देते समय अचानक फोन बंद हो गया। मैंने घटना से पहले पीआरवी 112 नंबर को फोन से सूचना दी थी। इस घटना को आने वाले लोगों ने व पड़ोस के लोगों ने देखा। इस घटना में दिलीप भी घायल है। पुलिस ने धारा 147, 48, 302, 504, 506 व 34 के अंतर्गत अभियोग पंजीकृत किया है। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल/विद्या कान्त-hindusthansamachar.in