सात फर्जी शिक्षकों के खिलाफ कोतवाली में मुकदमा दर्ज
क्राइम

सात फर्जी शिक्षकों के खिलाफ कोतवाली में मुकदमा दर्ज

news

देवरिया,16 जुलाई (हि.स.) । बेसिक शिक्षा विभाग से बर्खास्त सात फर्जी शिक्षकों के विरुद्ध कोतवाली में कूटरचित, धोखाधड़ी और गबन का केस दर्ज किया गया है। मुकदमा खंड शिक्षका अधिकारी की तहरीर पर दर्ज किया गया है। कोतवाली पुलिस मामले की जांच शुरु कर दी है। बेसिक शिक्षा विभाग में कुछ लोगों ने कुट रचना कर शिक्षक बन गए थे। विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों ने मिलकर फर्जी शिक्षकों के प्रमाण पत्रों का सत्यापन कराकर भुगतान भी शुरु कर दिया था। इसकी जांच प्रदेश सरकार ने एसटीएफ को दी। एसटीएफ की जांच मेें भी कई शिक्षक फर्जी निकले। एसटीएफ ने कुछ फर्जी शिक्षकों के विरुद्ध कोतवाली और खुखुन्दू थाने में मुकदमा दर्ज कराया। एसटीएफ के जांच में विभाग के अधिकारी और कर्मचारी स्वयं को फंसता देख आनन फानन में विभाग में कुटरचित प्रमाण पत्र पर नौकरी करने वाले शिक्षकों को बर्खास्त कर दिया। विभाग अपना दामन बचाने के लिए एड़ी चोटी लगाने लगे। आनन फानन में बीएसए ने जिले के 39 शिक्षकों को बर्खास्त किया गया था। बीएसए ने खंड शिक्षा अधिकारियों को बर्खास्त शिक्षकों को उनके तैनाती स्थल के थाने पर मुकदमा दर्ज कराने का निर्देश दिया। देवरिया सदर के खंड शिक्षाधिकारी विनोद कुमार तिवारी ने बर्खास्त शिक्षकों के विरुद्ध कोतवाली पुलिस को गुरुवार को तहरीर दिया था। कोतवाली पुलिस को विमल यादव, मीरा यादव, रीता मिश्रा, नीरज, सुनील कुमार रावत, अनिल कुमार रावत और सरोज कुमार के विरुद्ध 419, 420, 467, 468, 471 और 409 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज किया। इस संबंध में थानेदार टीजे सिंह ने बताया कि खंड शिक्षाधिकारी की तहरीर पर सात अभियुक्तों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है। इन थानों में भी पड़ी है तहरीर जिले के अलग अलग थानों में बर्खास्त शिक्षकों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराने के लिए खंड शिक्षाधिकारियों ने तहरीर दिया है। इसमें बनकटा, रामपुर कारखाना में दो, तरकुलवा, रुद्रपुर एक शिक्षक, एकौना चार शिक्षकों, सलेमपुर कोतवाली में सात शिक्षकों, मईल में एक शिक्षक के विरुद्ध तहरीर दिया गया है। हिन्दुस्थान समाचार /ज्योति/मोहित-hindusthansamachar.in