शिवपुरी में जमीनों के फर्जी पट्टे बांटने वाला गिरोह पकड़ा गया, फर्जी सीलें और दस्तावेज बरामद
शिवपुरी में जमीनों के फर्जी पट्टे बांटने वाला गिरोह पकड़ा गया, फर्जी सीलें और दस्तावेज बरामद
क्राइम

शिवपुरी में जमीनों के फर्जी पट्टे बांटने वाला गिरोह पकड़ा गया, फर्जी सीलें और दस्तावेज बरामद

news

शिवपुरी, 20 सितम्बर (हि.स.)। शिवपुरी जिले की पुलिस ने पोहरी में सरकारी जमीनों में हेरफेर कर फर्जी पट्टे तैयार करने वाले गिरोह को पकड़ा है। इस गिरोह के एक सदस्य सोनू राठौर के पास से एक बोरे में फर्जी सरकारी दस्तावेज, सरकारी सीलें और अन्य सामग्री मिली है। यह इससे सरकारी जमीनों में हेरफेर कर फर्जी तौर पर जमीनों के पट्टे तैयार करते थे और लोगों से पैसे ऐंठते थे। जिले के पोहरी में यह गिरोह सक्रिय था। यहां पर सरकारी जमीनों में हेरफेर कर यहां पर कई फर्जी पट्टे बांटे गए। पुलिस का कहना है कि इस मामले में राजस्व विभाग के पटवारी सहित कई रिकॉर्ड रूम में कई कर्मचारी शामिल हैं जिनकी गिरफ्तारी के प्रयास जारी हैं। जिला मुख्यालय पर कंट्रोल रूम में रविवार को हुई पत्रकारवार्ता में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गजेंद्र सिंह कंवर ने बताया कि पोहरी में सरकारी जमीनों की बंदरबांट की शिकायत के बाद मामला जांच में लिया गया था। इस मामले में एसआईटी गठित की गई थी। जांच के दौरान सबसे पहले पुलिस ने मुख्य आरोपी सोनू राठौर का पकड़ा है। यह सत्यम उर्फ बीनू श्रीवास्तव के साथ मिलकर कई हेक्टेयर की सरकारी जमीनों के फर्जी पट्टे तैयार करता था। इन पट्टों के लिए शासकीय रिकॉर्ड तहसील पोहरी कार्यालय के सहायक ग्रेड-3 प्रीतम व कैलाश उपलब्ध कराते थे। जबकि बंदोबस्त के समय का अधिकार अभिलेख एवं मूल खसरे कलेक्ट्रोरेट कार्यालय के रिकॉर्ड शाखा केमें पदस्थ बाबू प्रताप पुरी और जीतू कौरव उपलब्ध कराते थे। इसके बाद फर्जी सीलों व दस्तावेजों के आधार पर यह पट्टे तैयार किए जाते थे। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस गिरोह में और भी कई पटवारी व शासकीय कर्मचारी शामिल हो सकते हैं। जांच के बाद इसका खुलासा होगा। उन्होंने बताया कि इस गिरोह ने 147 लोगों को लगभग 350 हेक्टयेयर सरकारी जमीनों के पट्टे वितरित कर 1 से 2 करोड़ रुपये की राशि लोगों से ठगी है। हिन्दुस्थान समाचार/ रंजीत गुप्ता-hindusthansamachar.in