शिमला : मूर्तियां चोरी मामले में दो सुनार सहित छह गिरफ्तार4
क्राइम

शिमला : मूर्तियां चोरी मामले में दो सुनार सहित छह गिरफ्तार4

news

गिरोह में शामिल एक आरोपित के खिलाफ 13 और दूसरे पर आठ चोरी के मामले पहले से दर्ज शिमला, 22 सितम्बर (हि.स.)। राजधानी शिमला के मुंडाघाट स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर से मूर्तियां चोरी करने वाले चोर और खरीददार को शिमला पुलिस ने बेनकाब कर दिया है। शिमला पुलिस ने भगवान के घर डाका डालने वाले चार आरोपितों के साथ भगवान को खरीदने वाले दो आभूषण विक्रेता को हिरासत में लिया है। मंगलवार को पुलिस अधीक्षक मोहित चावला ने पत्रकार वार्ता में बताया कि पुलिस ने एक चोर गिरोह का भंडाफोड़ किया है। चावला ने कहा कि मुंडाघाट मंदिर से करीब 4 लाख रुपये की 150 साल पुरानी मूर्तियां चोरी हुई थीं। पुलिस ने तीन दिन में चोरी का खुलासा कर आरोपितों को पकड़ लिया है। मूर्तियों के अलावा जो अन्य सामान चोरी हुआ है वह भी शीघ्र ही बरामद कर लिया जाएगा। गिरफ्तार आरोपितों में एक आरोपित के खिलाफ 13 और दूसरे के खिलाफ आठ चोरी के मामले दर्ज हैं। एसपी ने बताया कि पकड़े गए आरोपितों ने अन्य जगह पर चोरी को अंजाम दिया है इसका भी जल्द ही पता लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि पुलिस ने 85 प्रतिशत चोरी गये सामान को बरामद कर लिया है, जिसमें नंदगोपाल व हनुमान की मूर्ति भी शामिल है। इस मामले में पुलिस अभी तक छह आरोपितों को गिरफ्तार कर चुकी है। इनमें चार ने चोरी की वारदात को अंजाम दिया है। एसपी ने कहा जो मूर्तियां बरामद हुई हैं उन्हें पूरी श्रद्धा के साथ उन्हें उसी स्थान पर स्थापित किया जाएगा। भगवान के घर डाका डालने वाले चोर और उनके खरीददार मुंडाघाट स्थित प्राचीन हनुमान मंदिर से मूर्तियां चोरी करने के मामले में पुलिस ने जिन चार लोगों को गिरफ्तार किया है उनमें गांव कालर तहसील अर्की के कमलेश, तहसील कंडाघाट के बांजणी गांव के राजेंद्र उर्फ कालूराम, अशोक और गडयाण तहसील सुन्नी के रीतिक शामिल हैं। इसके अलावा पुलिस ने चोरी की मूर्तियों को खरीदने के आरोप में गिरफ्तार लक्ष्मी और गणेश आभूषण विक्रेता हैं। हिन्दुस्थान समाचार / उज्ज्वल-hindusthansamachar.in