शाहजहांपुर : पुलिस मुठभेड़ में चार अंतर्जनपदीय लुटेरे गिरफ्तार, लूट का माल बरामद
शाहजहांपुर : पुलिस मुठभेड़ में चार अंतर्जनपदीय लुटेरे गिरफ्तार, लूट का माल बरामद
क्राइम

शाहजहांपुर : पुलिस मुठभेड़ में चार अंतर्जनपदीय लुटेरे गिरफ्तार, लूट का माल बरामद

news

शाहजहांपुर, 27 जुलाई (हि.स.)। खुटार पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। मुठभेड़ के दौरान पुलिस टीम ने चार अंतर्जनपदीय लुटेरों को गिरफ्तार कर लिए। पूछताछ में लुटेरों ने शाहजहांपुर, लखमीपुर , पीलीभीत एवं बरेली में की गई लूट व चोरी की कई वारदातों का खुलासा किया है। प्रभारी निरीक्षक जय शंकर सिंह ने सोमवार को बताया कि पुलिस अधीक्षक एस आनन्द के कुशल नेतृत्व एवं पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अपर्णा गौतम व क्षेत्राधिकारी पुवायां नवनीत कुमार नायक निर्देशन मे गठित पुलिस टीम बीती देर रात अपराधियो की धरपकड़ के लिए थाना क्षेत्र में गश्त कर रही थी। मुखबिर की सूचना तथा सर्विलांस के आधार पर टीम ने पूरनपुर गोला बाईपास से जुड़ी रोड पर मुठभेड़ के दौरान बाइक सवार चार लुटेरों को गिरफ्तार कर लिए। पकड़े गए लुटेरे पीलीभीत के थाना पूरनपुर क्षेत्र के तकिया दिनारपुर निवासी श्याम सिंह एवं ग्राम सिरसा निवासी हरिओम उर्फ किंग,रजनीश उर्फ मिन्टू तथा तनुज पण्डित है। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि मुठभेड़ के दौरान एक लुटेरे ने अवैध असलाह से पुलिस टीम पर फायर भी किया। लेकिन गनीमत रही कि कोई पुलिस कर्मी हताहत नही हुआ। श्री सिंह ने बताया कि पूछताछ में लुटेरों ने पीलीभीत मे नौ, लखमीपुर खीरी में दो तथा शाहजहांपुर मे छह लोगों से लूट की वारदात कबूली है। एक सप्ताह पूर्व तनुज व हरिओम ने बण्डा क्षेत्र मे एक व्यक्ति से पैशन प्रो-मोटरसाइकिल, मोबाइल व रुपये लूट लिए थे। लुटेरों ने पूरनपुर मे एक व्यक्ति के बैग से 48 हजार रुपये चोरी कर लिए। इसके साथ ही बरेली के थाना भोजीपुरा से भी एक मोटरसाइकल चोरी की।पुलिस ने लुटे गए 17 मोबाइल फोन,बण्डा क्षेत्र से लूटी तथा बरेली से चोरी की गई मोटरसाइकिल, लूटी गई रकम के बचे हुए बीस हजार रुपये तथा अवैध असलाह भी लुटेरों से बरामद किए है। गर्लफ्रेंड तथा खुद के शौक पूरा करने के लिए बन गए लुटेरे प्रभारी निरीक्षक जय शंकर सिंह ने बताया कि हरिओम मेरठ से बीटीसी तथा श्याम सिंह बरेली से एमबीए कर रहा है। जबकि मिन्टू राईस मिल पर नौकरी करता है और तनुज जिम चलाता है। उन्होंने बताया कि लुटेरों की गर्लफ्रेंड भी है। इसके अलावा लुटेरों को मंहगे मोबाइल रखने, होटल में खाना खाने व अन्य कई महंगे शौक भी थे, जोकि पूरे नही हो रहे थे। गर्लफ्रेंडो की जरूरतों व अपने शौक को पूरा करने के लिए चारो युवको ने गिरोह बना लिया। गिरोह की कमान हरिओम ने संभाल ली जिसके बाद यह लोग लूट की वारदातो को अंजाम देने लगे। उन्होंने बताया कि पूरनपुर में हुई वाहन चोरी के एक मामले में पीलीभीत पुलिस ने एक माह पूर्व रजनीश को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। लेकिन कुछ दिनो बाद रजनीश जमानत पर छूट आया और साथियो के साथ मिलकर फिर से लूट की वारदातों को अंजाम देने लगा। हिन्दुस्थान समाचार/अमित/दीपक-hindusthansamachar.in