शातिर ठग गिरफ्तार
क्राइम

शातिर ठग गिरफ्तार

news

नई दिल्ली, 10 सितम्बर (हि.स.)। दक्षिण पश्चिम जिला की साइबर सेल ने एक निजी बैंक के क्रेडिट कार्ड डिपार्टमेंट में काम कर चुके युवक को जालसाजी के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी ने क्रेडिट कार्ड देने की प्रक्रिया के दौरान एक व्यक्ति के मोबाइल फोन में रिमोर्ट एक्सेस एप लोड कर दिया और बाद में उससे कार्ड की जानकारी हासिल कर रुपये ट्रांसफर कर लिये। पुलिस ने आरोपी के पास से दो मोबाइल फोन और डेबिट और क्रेडिट कार्ड बरामद किए हैं। जिला पुलिस उपायुक्त देवेंद्र आर्या ने बताया कि बापरौला विहार निवासी मुकेश के रूप में हुई है। 9 मार्च 2020 को राजेश राजपुत ने ठगी की शिकायत की। उसने बताया कि कोई उसके क्रेडिट कार्ड से लगातार रुपये ट्रांसफर कर रहा है। आरोपी 69334 रुपये ट्रांसफर कर चुका है। जबकि उसने कार्ड की जानकारी किसी को नहीं दी है। साइबर सेल को जांच सौंपी गई। निरीक्षक अभिनेंद्र जैन के नेतृत्व में पुलिस टीम ने शिकायतकर्ता के बैंक अकाउंट की जांच की। जांच में पता चला कि सभी ट्रांजेक्शन पेटीएम और मोबिकविक से हुई है। आगे जांच करने पर पता चला कि रुपये एक्सिस बैंक के मुकेश के खाते में गई है। इस रकम से मोबाइल फोन रिचार्ज किये गए हैं। फोन मुकेश के बंगलूरु वाले पते पर रजिस्टर था। लेकिन उसका लोकेशन दिल्ली का आ रहा था। पुलिस ने तकनीकी जांच कर आरोपी को बापरौला विहार से गिरफ्तार कर लिया। वह मूलत: नेपाल का नागरिक है। पूछताछ में उसने बताया कि शिकायतकर्ता ने जब कार्ड का आवेदन दिया था तब वह सिटी बैंक के क्रेडिट कार्ड डिपार्टमेंट में कार्यरत था। इस प्रक्रिया के दौरान उसने शिकायतकर्ता के मोबाइल पर रिमोर्ट एक्सेस एप लोड कर दिया। जिसकी मदद से बाद में वह सारी जानकारी लेकर रुपये ट्रांसफर कर लिये। पुलिस के मुताबिक मुकेश बंगलूरु के स्कूल में १२वीं तक पढऩे के बाद दिल्ली आ गया और बैंक के क्रेडिट कार्ड डिपार्टमेंट में अनुबंध के आधार पर काम करने लगा। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी-hindusthansamachar.in