विरासत की जंग में पिता ने सगे बेटे को पीट-पीट कर उतारा मौत के घाट
विरासत की जंग में पिता ने सगे बेटे को पीट-पीट कर उतारा मौत के घाट
क्राइम

विरासत की जंग में पिता ने सगे बेटे को पीट-पीट कर उतारा मौत के घाट

news

आजमगढ़, 24 जुलाई (हि.स.)। राजनीति में पद और कुर्सी के लिए कोई अपना सगा नहीं होता, चाहे वह अपना सगा बेटा क्यों न हो? कुछ ऐसा ही देखने को मिला आजमगढ़ जिले के मेंहनगर थाना क्षेत्र में जहां आने वाले ग्राम प्रधान के चुनाव में पिता के खिलाफ ताल ठोकने की तैयारी कर रहे पुत्र को उसके ही प्रधान पिता ने शुक्रवार को सरेबाजार लाठीयों से पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया। इतना ही नहीं पुत्र की हत्या के करने के बाद पिता पुलिस को सूचना देने के बजाय गांव के बाहर ही शव का अंतिम संस्कार कर रहे थे। लेकिन ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने चिता से शव को अपने कब्जे में ले लिया। और आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया गया है। मेंहनगर थाने के गद्दीपुर गांव के रहने वाले हवलदार यादव अपने गांव के वर्तमान समय में प्रधान है। उनके चार पुत्र है। तीसरे नम्बर का पुत्र नाटे यादव शरारती किस्म का भी है और आये दिन वह किसी न किसी से उलझ जाता था। नाटे पूर्व एलएलसी कमला प्रसाद के यहां रहता था। पूर्व एमएलसी कमला प्रसाद यादव के राजनैतिक पहुंच, पद और प्रतिष्ठा को देखकर उसने भी राजनीति में उतरने की ठान लिया। इसके लिए उसने ग्राम प्रधान का चुनाव लड़ने का फैसला कर लिया, वह भी अपने पिता हवलदार यादव के खिलाफ। इस दौरान नाटे ने अपनी एक अच्छी खासी गैंग भी तैयार कर लिया था। चुनावी मैदान में बेटे के ताल ठोकने से पिता हवलदार यादव काफी परेशान थे। इसी को लेकर पिता और पुत्र में काफी दिनों से विवाद और मारपीट भी होती हुई चली आ रही थी। इस विवाद से छुड़कारा पाने के लिए बेटे नाटे ने चुनावी मैदान से ही पिता को हटाने के लिए साजिश रचनी शुरू कर दिया। इसके लिए उसने अपने ही गैंग के तीन लोगों को अपने पिता की हत्या की सुपारी दे दिया। यह बात कहीं से लीक हो गयी और पिता हवलदार को जब पता चली तो वह आग बबूला हो गया और बेटे की तलाश शुरू कर दिया। शुक्रवार को बाजार में बेटा नाटे यादव शराब पीकर मस्त था तभी उसके पिता हवलदार यादव उसकी तलाश करते हुए वहां पहुंचे और उसको लाठीयों से पीट-पीट कर मौत के घाट उतार दिया। हत्या की जानकारी पुलिस को भी नहीं दी। अपने कुछ लोगों के साथ पिता हवलदार यादव ने शव को ठीकाने लगाने के लिए गांव के बाहर ही चिता तैयार कर बेटे के शव का अंतिम संस्कार करने जा रहा था, लेकिन ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को चिता से अपने कब्जे में ले लिया और आरोपियों की तलाश में जुट गयी। पुलिस अधीक्षक प्रो.त्रिवेणी सिंह ने बताया कि सूचना के तत्काल बाद पुलिस मौके पर पहुंची। चिता से शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। आरोपी पिता को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है। केस दर्ज कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिये गये हैं। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/राजेश-hindusthansamachar.in