रतलामः 12 वर्षीय बालिका का अपहरण कर गैंगरेप और हत्या के मामले में तीन आरोपित गिरफ्तार
क्राइम

रतलामः 12 वर्षीय बालिका का अपहरण कर गैंगरेप और हत्या के मामले में तीन आरोपित गिरफ्तार

news

रतलाम, 07 सितम्बर (हि.स.)। जिले के बिलपांक थाना क्षेत्र में रविवार को 12 वर्षीय बालिका का शव एक खेत में बरामद हुआ था, उसकी हत्या के मामले में तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने सोमवार को मामले का खुलासा करते हुए बताया कि आरोपितों ने बालिका का रोड से अपहरण कर पास के मक्के के खेत में उसके साथ गैंगरेप किया और बाद में बालिका को तालाब में डूबो-डुबो कर मार दिया। हत्या के मामले में कालू निनामा, दीपला उर्फ दीपक तथा रवि पुत्र रामसिंह निनामा सभी निवासी ग्राम गुर्जरपाड़ा को गिरफ्तार कर लिया गया है। तीनों आरोपितों से अलग-अलग घटनास्थल की तस्दीक की गई। पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने सोमवार को पत्रकारवार्ता में बताया कि पुलिस गठित दल ने 24 घंटे की कड़ी मेहनत और मुखबिर तंत्र की सहायता से इस अंधे कत्ल का पर्दाफाश कर आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। एसपी तिवारी ने बताया कि पांच सितम्बर को शाम करीब 7 बजे पीडि़त बालिका अपने घर सेे कुछ दूरी पर बनी किराना दुकान से घर की आवश्यकता का समान लेने गई थी, परन्तु काफी समय बीत जाने के उपरांत जब बालिका अपने घर नहीं पहुंची तो उसके घर के सदस्य चिंतित होकर तलाश में निकले और जब उसका कोई पता नहीं चला तो डायल 100 पर फोन पुलिस को सूचित किया गया। पुलिस द्वारा तलाश शुरू करने पर रविवार सुबह पीडि़त बालिका का समान (शक्कर, चाय, साबुन व चपल्ल) रोड से लगे खंडर के पास मिला। पीडि़त की तलाश उसके परिजनों द्वारा आसपास खेतों में की गई तो उसका शव मैन रोड से लगभग 200 मीटर की दूरी पर मक्के के खेत में मिला, जिसके मुंह से सफेद झाग आता हुआ व कपड़े अस्त-व्यवस्था अवस्था में पहने हुए मिले। घटना के बारे में तस्दीक करते प्रथम दृश्या पीड़ित बालिका का अपहरण कर उसके साथ दुष्कर्म व हत्या किया जाना प्रतीत होने से थाना बिलपांक पर धारा 363, 376 डीए, 302, 201 भादवि 5जी,6 पक्सो एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज किया गया। सूचना प्राप्त होने पर तत्काल वरिष्ठ अधिकारी घटना स्थल पर पहुंचे। एफएसएल अधिकारी डा. अतुल मित्तल के साथ घटना स्थल का निरीक्षण किया एवं आवश्यक निर्देश दिए। घटना स्थल के निरीक्षण उपरांत पुलिस द्वारा घटना स्थल से आवश्यक भौतिक एवं वैज्ञानिक साक्ष्य संकलित किए गए एवं घटना घटित करने वालों की पतारसी शुरू की गई। घटना के संबंध में ग्रामीण से बातचीत के बाद रात्रि में कालू निनामा पुत्र चेन सिंह निनामा, दिपला उर्फ दीपक पुत्र नाहर सिंह व रवि पुत्र राम सिंह निनामा सभी निवासी गुजरपाडा को एक साथ रोड पर रात्रि में देखे गए थे, उसके बाद से संदेही गांव से फरार हो गए थे। एसपी गौरव तिवारी ने बताया कि इस सनसनीखेज घटना को गंभीरता से देखते हुए पुलिस टीम का गठन किया गया और आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए ईनाम भी घोषित किया गया। साक्ष्य संकलन और घटना से संबंधित अन्य जानकारी हेतु गिरफ्तार शुदा जानकारी सोमवार को न्यायालय में पेश किया जाकर पुलिस रिमांड प्राप्त किया गया। हिन्दुस्थान समाचार/ शरद जोशी-hindusthansamachar.in