मुआवजे और सरकारी नौकरी की मांग को लेकर शव सड़क पर रखकर लगाया जाम
मुआवजे और सरकारी नौकरी की मांग को लेकर शव सड़क पर रखकर लगाया जाम
क्राइम

मुआवजे और सरकारी नौकरी की मांग को लेकर शव सड़क पर रखकर लगाया जाम

news

मेरठ, 24 जुलाई (हि. स.)। पुलिस के वज्र वाहन की चपेट में आकर मारे गए किशन गुप्ता के परिजनों और क्षेत्रवासियों ने शुक्रवार दोपहर जमकर हंगामा किया। सैकड़ों लोगों ने मृतक के परिजनों को मुआवजे और सरकारी नौकरी की मांग करते हुए शव को सूरजकुंड चौराहे पर रखकर जाम लगा दिया। घंटो चले हंगामे के बाद अधिकारियों के आश्वासन पर हंगामा शांत हुआ। बताते चलें नेहरू नगर निवासी किशन गुप्ता की गुरुवार की रात पुलिस के वज्र वाहन की चपेट में आकर मौत हो गई थी। जिसके बाद सड़क चलते लोगों ने वज्र वाहन के चालक पुलिसकर्मी कीर्तिपाल पर शराब पीकर गाड़ी चलाने का आरोप लगाते हुए उसकी जमकर पिटाई कर दी थी। घायल कीर्तिपाल को मेडिकल में भर्ती कराया गया है। उधर, शुक्रवार को पोस्टमार्टम के बाद मृतक के बेटे अभिषेक और विशाल सहित सैकड़ों क्षेत्रवासियों ने किशन गुप्ता के शव को सूरजकुंड चौराहे पर रखकर जाम लगा दिया। भाजपा पार्षद अंशुल गुप्ता सहित अन्य क्षेत्रवासियों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। हंगामे की सूचना पर एसपी सिटी अखिलेश नारायण सिंह, सीओ सिविल लाइन संजीव देशवाल और एसीएम सिविल लाइन मौके पर पहुंचे। परिजनों ने मृतक के किसी एक पुत्र को सरकारी नौकरी और आश्रितों को 30 लाख का मुआवजा दिए जाने की मांग की। घंटो हंगामे के बाद अधिकारियों ने पीड़ितों की मांग को शासन तक पहुंचाने और पूरी कराने का आश्वासन दिया। जिसके बाद मृतक के शव का अंतिम संस्कार किया गया। हिन्दुस्थान समाचार/कुलदीप/दीपक-hindusthansamachar.in