मामूली विवाद में बजुर्ग को नीचे फेंका, मौत
क्राइम

मामूली विवाद में बजुर्ग को नीचे फेंका, मौत

news

नई दिल्ली, 16 सितम्बर (हि.स.)। फर्श बाजार इलाके की न्यू संजय अमर कालोनी में मंगलवार गली में लगे एसी की गर्म हवा को लेकर हुए विवाद में एक पड़ोसी ने दूसरे पड़ोसी पर हमला कर दिया। आरोपियों ने मारपीट करने के बाद 60 साल के बुजुर्ग को दूसरी मंजिल से नीचे लटकाकर फेंक दिया। गंभीर हालत में पीड़ित धर्मपाल (60) को डॉ. हेड गेवार अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। हमले में धर्मपाल के दो बेटे बाबूलाल और देव कुमार भी जख्मी हो गए। दरअसल छह फुट की गली में आरोपी पड़ोसी ने पिछले चार सालों से एसी लगाया हुआ था। उसकी गर्म हवा धर्मपाल के घर में जाती थी। इस बात पर दोनों के बीच विवाद रहता था। एक सप्ताह पूर्व धर्मपाल के बेटे ने भी एसी लगवाया तो उसकी हवा आरोपी पड़ोसी के घर गई। इसी बात पर मंगलवार दोनों के बीच झगड़ा हो गया। पुलिस ने हत्या करने के आरोप में पड़ोसी धर्मेंद्र उर्फ धर्मू को गिरफ्तार कर लिया है। फर्श बाजार थाना पुलिस बाकी आरोपियों की तलाश कर रही है। पुलिस के मुताबिक धर्मपाल अपने परिवार के साथ फर्श बाजार स्थित न्यू संजय अमर कालोनी में रहता था। वह राज मिस्त्री का काम करता था। करीब 25 गज का इनका मकान दो मंजिला बना हुआ है। इसके परिवार में पत्नी हीरावती, चार बेटे कन्हैया लाल, बाब लाल, मंजीत कुमार और देव कुमार व दो शादीशुदा बेटी हैं। धर्मपाल के ठीक सामने ईडीएमसी में सफाई कर्मचारी धर्मेंद्र, पत्नी, दो बेटे व दो बेटियों के साथ रहता है। धर्मपाल की बेटी प्रीति ने बताया कि उनकी गली महज छह फुट की है। गली से बाइक भी बहुत मुश्किल से निकल पाती है। चार साल पहले धर्मंद्र ने ग्राउंड फ्लोर पर एसी लगवाया था। उसकी गर्म हवा धर्मपाल के घर में सीधे जाती थी, जिसकी वजह से उनके यहां बहुत गर्मी रहती थी। कई बार बाबू ने धर्मेंद्र से एसी को थोड़ा ऊपर लगवाने के लिए कहा था। अब एक सप्ताह पूर्व बाबू लाल ने भी अपने घर में एसी लगवा लिया। इसकी हवा धर्मेंद्र के घर पर जाने लगी थी। इस बात से वह खफा रहने लगी थी। प्रीति ने बताया कि छोटी-छोटी बातों पर बाबू लाल की पत्नी उसके परिवार के साथ गाली-गलोच करने लगती थी। प्रीति ने बताया कि दोनों परिवारों के बीच एसी की हवा को लेकर विवाद तो चल ही रहा था। इस बीच कल बाबू लाल के नौ साल के बेटे ने गली में धर्मेंद्र के दरवाजे के आगे पानी डाल दिया। इस बात पर धर्मेंद्र की पत्नी गाली-गलोच करने लगी। बाबू और उसके पिता ने इसका विरोध किया तो धर्मेंद्र का पूरा परिवार इकट्ठा हो गया। आरोपी ने फोन कर करीब दर्जनभर लड़कों को बुला लिया। आरोप है कि धर्मेंद्र का परिवार व बुलाए लड़के धर्मपाल के घर में घुस गए। पहले बाबू की पत्नी कृष्ण और मंजीत की पत्नी तुलसी के साथ मारपीट की गई। इसके बाद घर में मौजूद धर्मपाल और बाबू को जमीन पर गिराकर पीटा गया। धर्मपाल जान बचाकर छत पर भागे तो धर्मेंद्र और उसके साथ मौजूद लोगों ने उनकी दोनों टांगे पकड़कर नीचे लटका दिया। बाद में उन्हें दूसरी मंजिल से नीचे फेंक दिया, जिससे उनकी मौत हो गई। दोपहर 2.42 पर सूचना मिलने के बाद पुलिस ने धर्मपाल को अस्पताल पहुंचाया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी धर्मपाल को गिरफ्तार कर लिया। बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है। धर्मपाल के परिवार का आरोप है कि वह पिछले करीब चार साल से सहन करते आ रहे थे। धर्मंद्र और उसका परिवार उनको कुछ भी कहने पर धमकियां देता था। अब बाबू लाल ने एसी लगवाया था तो यह धर्मेंद्र से बदार्शत नहीं हुआ। प्रीति ने आरोप लगाया कि मंगलवार को जब आरोपी उनके घर में घुसे हुए थे तो गली में भीड़ तमाशबीन रही। भीड़ के सामने ही उसके पिता को जानवरों की तरह दोनों टांगे पकड़ृकर लटका दिया गया, लेकिन किसी ने विरोध करने की हिम्मत नहीं की। वारदात के बाद आरोपी इधर-उधर कूदकर भाग गए। प्रीति ने बताया कि धर्मेंद्र का एक रिश्तेदार तो पड़ोसी छत पर कूद गया। छत कच्ची होने के कारण छत के पत्थर निकल गए और वह खुद भी घायल हो गया। घायल होने के बाद भी वह भाग निकला। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनील-hindusthansamachar.in