मां-बेटे को बंधक बनाकर की डकैती, तीन ग‍िरफ्तार
क्राइम

मां-बेटे को बंधक बनाकर की डकैती, तीन ग‍िरफ्तार

news

नई दिल्ली, 30 जुलाई (हि.स.)। क्राइम ब्रांच ने नंद नगरी इलाके में मां-बेटे को बंधक बनाकर की गई डकैती की वारदात को महज 48 घंटों में सुलझाने का दावा किया है। दिनदहाड़े अंजाम दी गई इस डकैती के आरोप में फिलहाल तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है। इनके पास से लूटी गई रकम में से 3.77 लाख रुपये भी बरामद हुये हैं। गिरफ्तार किये गये तीनों बदमाशों के नाम मोहम्मद चांद, जावेद और सलीम बताये गये हैं। तीनों बदमाश लोनी, गाजियाबाद के रहने वाले हैं। पुलिस के अनुसार 26 जुलाई को दोपहर पौने चार बजे सुनील शर्मा नामक शख्स ने पीसीआर कॉल की थी। उन्होंने बताया था कि वह घर में बुजुर्ग मां के साथ मौजूद थे। इसी दौरान पांच हथियारबंद बदमाश उनके घर में घुस आये और गन प्वाइंट पर लेकर 35 से 40 तोला सोना और लगभगत सवा 14 लाख रुपये कैश व आधा किलो चांदी लूटकर ले गये। बदमाशों ने उनका मोबाइल फोन भी लूट लिया था। बदमाशों ने लूटपाट के दौरान उनकी मां को चोट भी पहुंचाई थी। दयालपुर थाने में डकैती का केस दर्ज किया गया था। जांच क्राइम ब्रांच भी कर रही थी। सीसीटीवी फुटेज खंगाली गई। संदिग्धों की सीडीआर के जरिये हापुड़ और लोनी में छापेमारी हुई। इसी बीच सूचना मिली कि वारदात में शामिल बदमाश गुरुवार 30 जुलाई को वजीराबाद रोड पर चांदबाग के नजदीक आने वाले हैं। पुलिस ने ट्रैप लगाकर तीन बदमाशों को लूट के सामान के साथ दबोच लिया। कर्ज उतारने के लिये अंजाम दी गई डकैती पुलिस की पूछताछ में पता चला कि मोहम्मद चांद जुए का आदि है। इसके चलते उस पर काफी कर्ज हो चुका था। कर्जदाता उस पर दबाव बना रहे थे। वह पीड़ित परिवार और उसकी माली हालत को अच्छे से जानता था। कुछ समय पहले शिकायतकर्ता की बहन ने ही उसे भाई के पास रखे पैसों और गहनों के बारे में बताया था। इसके बाद चांद ने अपने दोस्तों जावेद, सलीम और राजू के साथ मिलकर लूट की योजना बनाई। राजू ने बाद में शरीक और रहीस को भी अपने साथ मिला लिया था। 26 जुलाई को सभी नेहरू विहार की गली नंबर छह के मकान नंबर बी-46 पहुंचे और वारदात को अंजाम देकर फरार हो गये थे। पुलिस बाकी दो आरोपियों की तलाश में है। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी-hindusthansamachar.in