मणापुरम गोल्ड लोन ब्रांच में दिनदहाड़े डकैती का प्रयास, अलार्म बजते ही भागे आरोपित
क्राइम

मणापुरम गोल्ड लोन ब्रांच में दिनदहाड़े डकैती का प्रयास, अलार्म बजते ही भागे आरोपित

news

दुर्ग, 23 दिसंबर (हि. स.)। महाराजा चौक दुर्ग स्थित मणापुरम गोल्ड लोन ब्रांच में कार्यरत महिला सहायक ग्रेड की चतुराई ने आरोपितों के डकैती के प्रयास को असफल कर दिया। दिनदहाड़े डकैती की कोशिश करने वाले दोनों ही डकैतों को भागना पड़ा। रिपोर्ट पर पदमनाभपुर पुलिस के द्वारा आरोपियों के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है। पदमनाभपुर पुलिस ने बताया कि प्रार्थी एवं ब्रांच कर्मचारी गीता वासनिक 27 वर्ष केम्प - 2 पावर हाऊस महाराजा चौक में स्थित मणापुरम गोल्ड लोन ब्रांच में सहायक हेड के पद पर कार्यरत है। सुबह 09.35 बजे ब्रांच में दो अज्ञात व्यक्तिपयों द्वारा लूट का प्रयास किया गया। प्रतिदिन के अनुसार करीब 09.15 बजे सुबह ब्रांच खोल दिया गया था, सभी लोग कर्मियों द्वारा उपस्थिति के लिए पंचिंग किये। करीबन 09.35 बजे एक व्यक्ति ग्राहक बनकर आया और इंटरेस्ट पटाना है बोला रसीद नही रखा था , जिससे नाम मोबाईल नं. पूछा तो अपना नाम वैभव बताया जो मोबाईल नं. बताया था। जिससे सिस्टम पर देखा गया तो इस नाम का अभिलेख में उल्लेख नहीं था। तब उसे चौहान स्टेट में एकाउंट होना बता कर वही चले जाने की सलाह दी थी। तब वह बाहर निकल गया, उसके जाने के बाद तत्काल एक 13-14 साल का लड़का आया और बोला कि ब्याज पटाना है। ब्लैक कलर का मास्क लगाया था जैसे ही गेट खोला ग्राहक घुसने लगा कि तत्काल पहले वाला ग्राहक जो बाहर गया था शीघ्र दौड़कर आया धक्का देते हुए अंदर घुस आया। एक आदमी गेट के पास खड़ा था। दूसरा आदमी हेलमेट पहना था, एक चाकू रखा था। सभी को डरा कर एक साईड में खड़ा कर दिया। गीता एवं सावित्री मन्ना के गले में चाकू लगाया था। जुनियर स्टाफ सावित्री मन्ना को 3-4 थप्पड़ गाल में मारा एवं 5 लाख रूपये की जरूरत है, पैसा चाहिए मैं कोरोना पीड़ित हूं ईलाज कराना है लाकर खोलने को बोल रहा था तो गीता बोली कि ब्रांच हेड नीचे गई है, चाबी उसी के पास है। ब्रांच हेड का फोन रखा था उसी से ब्रांच हेड का नाम पूछकर देवकी नाम सर्च कर काल भी किया । लेकिन ब्रांच हेड ने फोन नही उठाया। गेट के चाबी से सेफ रूम खोलने का प्रयास किया किन्तु नही खुला सभी का फोन ईकट्ठा कर रख लिया। सब लोगों का फोन आने लगा कि ब्रांच ठीक है, तो मुझे ही बोलता था कि बोला ब्रांच ठीक है, तो गीता ने उसके डर से बोलती थी ब्रांच ठीक है। फिर गीता ने आरोपियों से चले जाने कहते हुए बताया कि कैमरे में आपका फोटों आ गया है, पुलिस आ जायेंगी पकड़ लेगी आप नीचे चले जाओं एक लाख नीचे लेकर आ रही हूं कही तब दोनों आदमी बाहर चले गये तब अलार्म बजाये है। जिसके कारण रीजनल मैनेजर को को ब्रांच में डकैती की सूचना मिल गई थी। जो पुलिस को सूचना मिलने के बाद पुलिस आई है। दोनों आदमी ब्रांच के अंदर घुसकर गले में चाकू लगाकर मारपीट करके बैंक का सोना पैसा लूटना चाहता था किन्तु ब्रांच हेड उसी समय ब्रांच के नीचे गई थी जो चाबी नही है कहकर बहाना बनाकर बोली और सेफ रूम नही खुलने से रकम एवं गोल्ड की लूटपाट नही हो पाई बार-बार फोन आने के कारण डरकर दोनों लूटेरे भाग गये। पदमनाभपुर पुलिस के द्वारा आरोपियों के खिलाफ भादवि की धारा 393 एवं 398 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया है। हिन्दुस्थान समाचार/अभय जवादे-hindusthansamachar.in