भोगनीपुर कांड में लगीं पुलिस की 11 टीमें फिर भी हाथ खाली
भोगनीपुर कांड में लगीं पुलिस की 11 टीमें फिर भी हाथ खाली
क्राइम

भोगनीपुर कांड में लगीं पुलिस की 11 टीमें फिर भी हाथ खाली

news

कानपुर देहात, 27 जुलाई (हि.स.)। कानपुर संजीत अपरहण और हत्या कांड के बीच ही जनपद के भोगनीपुर थानाक्षेत्र में धर्मकांटे से एक युवक का अपरहण होने के 10 दिन से ज्यादा बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली है। पुलिस की ग्यारह टीमें बीते 10 दिनों से एक युवक को नहीं ढूंढ पाई हैं। जनपद के भोगनीपुर थानाक्षेत्र में 16 जुलाई की देर रात को चौरा स्थित नेशनल धर्म कांटे से ब्रजेश पाल का अपरहण हो गया था। दस दिन बीत जाने के बाद भी जिसका पुलिस अभी तक कोई सुराख नहीं निकाल पाई है। कानपुर में संजीत अपरहण और हत्या के मामले में जहां एक ओर मीडिया ने अपना ध्यान केंद्रित कर दिया तो इस भोगनीपुर कांड की ओर किसी की नजर नहीं गई। जिसके चलते समय बीतता रहा और आज 10 दिन से ज्यादा हो गए हैं। परिजनों ने बताया कि पुलिस ने मीडिया के सामने कुछ भी कहने से मना किया था। जिसके चलते मामला सामने नहीं आया और मामले में हिला हवाली होती रही। जब मीडिया ने इस मामले को उठाया तो पुलिस एक्शन में आई तो जनपद के पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स ने 11 टीमों का गठन कर दिया। फिलहाल उन टीमो में किसी के भी हाथ कोई सुराख नहीं लगा है और पुलिस अधीक्षक भी मीडिया के सामने आने से बचते नजर आ रहे है। दोहरा न जाये कानपुर अपरहण कांड जिस तरह से कानपुर पुलिस की लापरवाही के चलते संजीत यादव की अपरहण के बाद हत्या कर दी गई और अभी तक उसका शव भी उनके परिजनों को नहीं मिला है। इस घटना से कानपुर देहात में भी ब्रजेश के परिवार परेशान है और जल्द अपने बेटे को पाना चाहता है। परिजनों की माने तो पुलिस अपराधी को पकड़ने के बजाए उनके पारिवारिक भाईयों पर अत्याचार कर रही है। हिन्दुस्थान समाचार/अवनीश-hindusthansamachar.in