बोदरली में मां, बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म
बोदरली में मां, बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म
क्राइम

बोदरली में मां, बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म

news

- गिट्टी क्रेशर मशीन पर काम करने वाले चौकीदार की पत्नी और 11 साल की बेटी को बंधक बनाकर किया दुष्कर्म - घटना की गंभीरता को देखते हुए डीआईजी ने क्षेत्र का दौरा किया बुरहानपुर, 02 अगस्त (हि.स.)। शाहपुर थाने के ग्राम बोदरली से एक शर्मसार घटना सामने आई है। यहां कुछ अज्ञात बदमाशों ने एक महिला और उसकी 11 साल की नाबालिग बेटी का अपहरण कर उनके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपित फरार हो गए। पुलिस ने शिकायत पर मामला जांच में लिया है। जानकारी के अनुसार शुक्रवार-शनिवार रात ग्राम बोदरली रोड पर अज्ञात पांच छह बदमाशों ने गिट्टी क्रेशर मशीन में कार्यरत चौकीदार के परिवार में धावा बोला। यहां बदमाशों ने चौकीदार की पत्नी और 11 साल की बेटी को बंधक बना लिया और मां, बेटी के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। घटना की जानकारी मिलने पर डीआईजी खरगोन रेंज तिलक सिंह भी बुरहानपुर पहुंचे और अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए। मोबाइल फोन भी छीने, मारपीट भी की शाहपुर थाना प्रभारी संजय पाठक ने बताया कि घटना बोदरली रोड पर स्थित एक गिट्टी क्रेशर मशीन की है। यहां छत्तीसगढ का रहने वाला एक चौकीदार रहता है। रात करीब 12 बजे अज्ञात पांच छह बदमाशों ने यहां वारदात को अंजाम दिया। साथ परिवार के साथ मारपीट कर उनके मोबाइल भी छीन लिए। पीडित परिवार की शिकायत पर अज्ञात आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर मामला जांच में लिया गया है। टीआई ने बताया जल्द आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पुलिस ने संदिग्धों को पकड़ा, पूछताछ जारी बोदरली स्थित गिट्टी खदान के चौकीदार की पत्नी-बेटी से हुए सामूहिक दुष्कर्म के मामले में रविवार को भी आरोपितों का पता नहीं लग सका है, लेकिन पुलिस को इतना सुराग लग गया है कि सभी आरोिपित जिले के ही है। रविवार को शाहपुर पुलिस ने 35 संदिग्धों को उठा लिया है। पूछताछ की जा रही है। पहले इसे बोदरली में हुई लूट के मामले से भी जोड़कर देखा जा रहा था, लेकिन पुलिस के सूचना तंत्र को आरोपितों के मामले में कुछ जानकारी मिली है। जल्द ही पुलिस आरोपितों तक पहुंचेगी। खेत में ले जाकर मां और नाबालिग बेटी से किया दुष्कर्म घटना ग्राम बोदरली में शुक्रवार-शनिवार की रात करीब 12.30 बजे की है। छह आरोपित गिट्टी खदान पहुंचे थे। उनके पास हथियार थे। आरोपित सीढ़ियों से चढ़े और टपरे के अंदर घूसे। चौकीदार जाग गया। चौकीदार सहित पत्नी और बेटी पीटा। दूसरे आरोपित ने अंदर से टपरे का दरवाजा खोला दिया। बाकी आरोपी भी अंदर आकर उन्हें पीटने लगे और बर्तन टटोलने लगे। चौकीदार ने डिब्बे में रखे मजदूरी के ढाई हजार रुपए दिए। शोर सुनकर पड़ोस के टपरे में सोया 65 साल का बुजुर्ग बाहर आया। कुछ आरोपियों ने चौकीदार और बुजुर्ग को रस्सी से टपरों में बांध दिया। चौकीदार की 38 साल की पत्नी और 11 साल की बेटी को खेत ले गए। पीड़िता के मुताबिक पहले आरोपियों ने मुझे नोचा और फिर मेरी बेटी के साथ खिलवाड़ किया। चार लोग बारी-बारी से हमकों नोचते रहे। उनकी हवस और पिटाई के बाद दोनों बेहोश हो गए थे। कुछ घंटे बाद होश आया तो मैने बेटी को उठाया और टपरे के पास पहुंचे। हिन्दुस्थान समाचार/निलेश जूनागढ़े/राजू-hindusthansamachar.in