बेहोशी की दवा देकर जेवरात चोरी करने वाले अंतरराष्ट्रीय गिरोह के सदस्य गिरफ्तार
बेहोशी की दवा देकर जेवरात चोरी करने वाले अंतरराष्ट्रीय गिरोह के सदस्य गिरफ्तार
क्राइम

बेहोशी की दवा देकर जेवरात चोरी करने वाले अंतरराष्ट्रीय गिरोह के सदस्य गिरफ्तार

news

डेढ़ करोड़ से अधिक का माल बरामद राजगढ़, 24 जुलाई (हि.स.)। जिले के पचोर थाना क्षेत्र में एक सप्ताह पहले नौकरानी के द्वारा बेहोशी की दवा देकर सहयोगियों की मदद से सोने-चांदी के आभूषण चुराने वाले अंतरराष्ट्रीय गिरोह के सदस्यों को पुलिस टीम ने दिल्ली सहित अन्य जगह से दबिश देकर गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपितों के कब्जे से डेढ़ करोड़ से अधिक का माल बरामद किया है। पुलिस ने दो महिला सहित वारदात को अंजाम देने में सहयोग करने वाले दस आरोपितों को गिरफ्तार किया है। पुलिस मामले में आरोपितों से पूछताछ कर रही है और भी बड़े खुलासे होने की संभावना जताई गई है। पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा ने शुक्रवार को जिला मुख्यालय पर आयोजित प्रेसवार्ता में बताया कि गत 14 जुलाई की रात को पचोर निवासी व्यवसाई श्रीराम गोयल के यहां केअरटेकर के रुप में काम करने वाली नेपाली महिला ने खाने में बेहोशी की दवा देकर सहयोगियों की मदद से चोरी की वारदात को अंजाम दिया था। मामले में पुलिस द्वारा अज्ञात के खिलाफ धारा 381,328 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया। पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर गठित स्पेशल टीम ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर वाहन क्रमांक यूपी 14 एफटी 2355 से तफ्तीश शुरु की। पुलिस टीम ने मामले में मुख्य आरोपित वीरमान धामी उर्फ सम्राट नेपाली हाल मुकाम उत्तमनगर दिल्ली, अनुष्का (28) पुत्री ज्ञानबहादुर भूखेल निवासी जनकपुर नेपाल, भारत पुत्र लालबहादुर थापा निवासी नेपाल, पवन (27) पुत्र गगन थापा, बेहोशी की दवा उपलब्ध कराने वाले कमल पुत्र गोरखसिंह ठाकुर निवासी नेपाल, चोरी के जेवरात खरीदने वाले मौहम्मद (32) पुत्र मुजम्मिल हुसैन, जेवरात को गलाने में सहयोग करने वाले विक्रांत कुलकर्णी, नेपाली अनुष्का को कंपनी में नौकरी दिलाने वाली सरिता पत्नी नवराज शर्मा, बिलाल अहमद निवासी नई दिल्ली को गिरफ्तार किया। पुलिस ने आरोपितों के कब्जे से 3 किलो 276 ग्राम बजनी सोने के आभूषण, ढ़ाई किलो चांदी और 5 लाख 13 हजार नकद जब्त किए हैं। स्पेशल टीम ने दिल्ली, हरियाणा और यूपी पुलिस की मदद से सफलता हासिल की। पुलिस की इस सफलता से पचोर कस्बे में हर्ष का माहौल है और गोयल परिवार की तरफ से दी गई प्रोत्साहन राशि को पुलिस टीम ने कोरोना महामारी के चलते मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा करने की घोषणा की है। एएसपी एनएस.सिसोदिया के निर्देशन में की गई कार्रवाई के दौरान एसडीओपी पदमसिंह बघेल, थाना प्रभारी डीपी लोहिया, एसआई शैलेषचंद्र कर्नाटक, रामकुमार रघुवंशी, जितेन्द्र अजनारे सहित अन्य पुलिसकर्मी मौजूद रहे। हिन्दुस्थान समाचार / मनोज पाठक-hindusthansamachar.in