बेटे के अत्याचार से तंग आकर पिता ने कर दी हत्या, थाने में किया आत्मसमर्पण
क्राइम

बेटे के अत्याचार से तंग आकर पिता ने कर दी हत्या, थाने में किया आत्मसमर्पण

news

जलपाईगुड़ी, 27 जुलाई (हि. स.)। सोमवार तड़के बेटे की हत्या के बाद एक बुजुर्ग पिता ने जलपाईगुड़ी थाने में जाकर आत्मसमर्पण कर दिया। थाने में ड्यूटी पर तैनात पुलिकर्मी के सामने आकर उसने कहा कि सर, मुझे गिरफ्तार कीजिए। मैंने अपने लड़के की हत्या की है। उक्त व्यक्ति का नाम अनिल देबनाथ (73) बताया जा रहा है। वह जलपाईगुड़ी जिले के अरविंद नगर का निवासी और पेशे से सब्जी विक्रेता है। सूत्रों के अनुसार अनिल देबनाथ इकलौता बेटा सुनील शादीशुदा था और उसका एक बेटा भी है। लेकिन सुनील कोई भी काम नही करता था और शराब का आदि था। हर दिन शराब पीने के बाद मां-बाप, पत्नी और अपने बेटे को मरता-पीटता रहता था। परिजनों और पड़ोसियों ने कई तरह से सुनील को समझाने की कोशिश की। लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ। वह इसी तरह से शराब पीकर आता और घर मे मारपीट करता। जिसके बाद सोमवार तड़के अनिल देबनाथ ने सोते समय अपने बेटे सुनील पर धारदार हथियार से हमला कर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद अनील देबनाथ वहीं हथियार लेकर आत्मसमर्पण करने के लिए थाने चले गए। इस अवस्था मे देख ड्यूटी में तैनात पुलिकर्मी चकित रह गए। बाद में घटना का पता लगाने के लिए कुछ पुलिस वालों को अनिल देबनाथ के घर भेजा गया । वहां पुलिस कर्मियो ने देखा कि सुनील का शव अनिलबाबू के घर के एक कमरे में पड़ा हुआ है। हालांकि तब सुनील की पत्नी, बच्चे और मां एक अलग कमरे में सो रहे थे। अचानक सुबह के समय पुलिस वालों को देखर वे चकित हो गए। पुलिस के माध्यम से ही उन्हें पता चला कि अनिलबाबू ने सुनील की हत्या करने के बाद थाने में आत्मसमर्पण कर दिया है। पूरी घटना की जानकारी मिलने के बाद अनिलबाबू को गिरफ्तार कर लिया गया। अनिलबाबू ने पुलिस को बताया कि उन्होंने मजबूर होकर अपने बेटे की हत्या की है अगर वे ऐसा नही करते तो उनका बेटा एक दिन सभी परिवार वालों की हत्या कर देता हिन्दुस्थान समाचार/ सुगंधी/गंगा-hindusthansamachar.in