बुरहानपुर: पेटीएम द्वारा की गई धोखाधड़ी  का हुआ खुलासा
बुरहानपुर: पेटीएम द्वारा की गई धोखाधड़ी का हुआ खुलासा
क्राइम

बुरहानपुर: पेटीएम द्वारा की गई धोखाधड़ी का हुआ खुलासा

news

- पबजी गेम की लत ने बेटे को ही बना दिया पिता का गुनहगार बुरहानपुर, 07 सितम्बर (हि.स.)। पुलिस ने पेटीएम से की गई धोखाधड़ी के मामले का खुलासा कर दिया है। पबजी गेम की लत के कारण एक बेटे ने अपने ही पिता को हजारों का चूना लगा दिया। शिकायत के बाद पुलिस ने जांच की थी। प्राप्त जानकारी के अनुसार 04 सितंबर को फरियादी राजेश तंतुवाय निवासी लालबाग ने थाना लालबाग में शिकायत दर्ज कराई थी कि फरियादी का खाता पंजाब नेशनल बैंक की शनवारा ब्रांच में है। जिसमें उसके पिछले 5 माह की मानदेय राशि 1 लाख 41 हजार रुपये जमा हुए थे। 7 जुलाई को जब पास बुक की इन्ट्री करवाई तो पता चला कि फरियादी के खाते से अज्ञात व्यक्ति द्वारा अलग अलग तारीख को मार्च 2019 से अगस्त 2020 के मध्य 71000 रुपये निकाल लिए गए हैं। रिपोर्ट पर थाना लालबाग द्वारा धारा 379 भादवि व 66 आईटी एक्ट का पंजीबध्द कर विवेचना के लिए थाना प्रभारी गणपति नाका को दिया गया। एसपी राहुल कुमार लोढा द्वारा ऑनलाईन पेटीएम फ्राड का मामला होने से गंभीरता से लेते हुए शीघ्र पतारसी के निर्देश एवं मार्गदर्शन थाना प्रभारी गणपति नाका एवं सायबर सेल की टीम को दिए। विवेचना के दौरान सायबर टीम को पता लगा कि फरियादी का नाबालिग पुत्र पबजी गेम खेलने का आदि है जो अपने दोस्तो को घर पर बुलाकर उनके मोबाइल से अपने पिता के डेबिट कार्ड का उपयोग करके पेटीएम एप्प के द्वारा रुपये ट्रांसफर कर लेता था एवं पेटीएम से पबजी गेम में पैसा ट्रांसफर कर लेता था। ट्रांसफर करने पर अपने पिता के मोबाइल में आए ओटीपी को भी डिलीट कर देता था। इस प्रकार नाबालिग बेटे द्वारा कई महीनों तक ये सिलसिला चलता रहा। जिसमें कुल 71000 रुपये नाबालिग द्वारा गेम में उडा दिये। सम्पूर्ण कार्य में निरीक्षक केपी ध्रुवे थाना प्रभारी गणपति नाका, उनि विक्रम सिंह बामनिया, प्रभारी सायबर सेल सउनि दिलीप सिंह, प्र आर 352 तारक अली,576 गगन दुर्गेश पटेल की भूमिका रही। हिन्दुस्थान समाचार/निलेश जूनागढ़े/केशव-hindusthansamachar.in