फर्जी दस्तावेज के जरिए दोबारा गिरवी रखकर करोड़ोंं की ठगी करने वाला गिरफ्तार
क्राइम

फर्जी दस्तावेज के जरिए दोबारा गिरवी रखकर करोड़ोंं की ठगी करने वाला गिरफ्तार

news

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (हि.स.)। लोन के बदले गिरवी रखी गई प्रॉपर्टी को फर्जी दस्तावेज के जरिए दोबारा गिरवी रखकर 2.56 करोड़ रुपये का लोन लेकर जालसाजी करने वाली एक महिला को दो अन्य आरोपियों के साथ दिल्ली पुलिस की ईओडब्ल्यू की टीम ने नोएडा से गिरफ्तार कर लिया है। तीनों आरोपी लम्बे समय से गिरफ्तारी से बचने के लिए पुलिस को चकमा दे रहे थे। आरोपितों से पूछताछ करते हुए पुलिस मामले में आगे की जांच कर रही है। ईओडब्ल्यू के ज्वाइंट सीपी डॉ. ओपी मिश्रा ने आरोपी महिला के अलावा गिरफ्तार किए गए दोनों अन्य आरोपियों की पहचान रोहित भूटान और सुभाष भूटान के तौर पर की है। इन आरोपितों के खिलाफ आईपीसी की धारा 406, 420, 467, 468, 471 और 120बी के तहत केस दर्ज किया गया था। पुलिस अधिकारी ने बताया कि घटना को लेकर 17 अक्टूबर 2018 को केस दर्ज कराया गया था, जिसमें शिकायतकर्ता कम्पनी चोलामंडलम इंवेस्टमेंट एंड फाइनेंस को. लिमिटेड की ओर से बताया गया था कि आरोपी रोहित भूटान और अन्य ने कम्पनी से करीब 2.56 करोड़ रुपये का लोन आवंटित करवा लिया था। आरोपियों ने प्रीत विहार के ई-ब्लॉक स्थित ई-91 प्रॉपर्टी को मॉर्गेज करवाकर लोन आवंटित करवाया था। हालांकि लोन लोने के बाद आरोपितों ने किस्त देना बंद कर दिया। जब शिकायतकर्ता ने मॉर्गेज किए गए प्रॉपर्टी का इंस्पेक्शन किया तो पता चला कि उक्त प्रॉपर्टी को पहले से ही आईसीआईसीआई होम फाइनेंस एंड लोन नामक कम्पनी के पास पहले ही गिरवी रखी जा चुकी है और आरोपियों ने उक्त कम्पनी से भी 55 लाख रुपए का लोन लिया है। पुलिस ने जब जांच शुरू की तो पता चला कि आरोपितों ने फर्जी दस्तावेज के आधार पर प्रॉपर्टी को दोबारा गिरवी रखवाया था। आरोपितों की तलाश में लगी पुलिस को आरोपित काफी समय से चकमा दे रहे थे। आरोपित अपने रहने का ठिकाना लगातार बदल रहे थे। एसीपी नागिन कौशिक की निगरानी में इंस्पेक्टर आशुतोष, एसआई चंचल, एएसआई रमेश, हेड कांस्टेबल नागेन्द्र और महिला कांस्टेबल डॉली की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर आरोपितों को नोएडा में ट्रेस कर लिया और तीनों को 13 अक्टूबर को गिरफ्तार कर लिया। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी-hindusthansamachar.in