प्रेमिका के लिए धमकी देने वाला आरोपी गिरफ्तार
क्राइम

प्रेमिका के लिए धमकी देने वाला आरोपी गिरफ्तार

news

नई दिल्ली,13 सितंबर(हि.स.)। क्या आपने हिंदी फिल्म 'डर दिल्ली है' देखी है, जिसमे विलेन एक शादीशुदा लड़की को अपना दिल दे बैठता है। उससे बात करने के लिए कुछ भी करने को राजी होता है। झूठी बातों से अपनी तरफ आकर्षित करने की कोशिश करता है। लड़की के सभी दुश्मनों को खत्म करना चाहता है। ठीक वैसा ही एक मामला बाहरी उत्तरी इलाके में सामने आया। यहां गर्लफ्रैंड को पाने के लिए और उसको तंग करने वालों को दहशत में डालने के लिये एक सिरफिरे आशिक ने गैंगस्टर नीरज बवानिया के नाम का सहारा लेकर धमकी भरे वसूली के लिए फ़ोन किये। इसके लिए उसने एक लेबर का मोबाइल फ़ोन भी चोरी किया। वह अपनी गर्लफ्रैंड को प्यार और धमकी आदि किसी भी तरह से पाना चाहता था। ऐसे सिरफिरे आशिक को बाहरी उत्तरी जिला स्पेशल स्टाफ पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान सौरभ उर्फ पीएसओ के रूप में हुई है। आरोपी चोरी के फ़ोन से अपनी गर्लफ्रैंड और उसके पूर्व प्रेमी को धमकी और वसूली के लिए फ़ोन किये थे। जिला पुलिस उपायुक्त गौरव शर्मा ने बताया कि कुछ दिन पहले नरेला इंडस्ट्रियल एरिया पुलिस को एक महिला ने फ़ोन पर धमकी और 20 लाख रुपये की वसूली की शिकायत दर्ज करवाई थी। पुलिस ने मामला दर्ज किया। मामला स्पेशल स्टॉफ में तैनात इंस्पेक्टर अजय कुमार की टीम को सौंपा गया। शिकायतकर्ता से पूछताछ में पता चला कि कॉलर ने खुद को नीरज बवानिया का भी पंकज बताया था, जिसने बताया कि वह परिवार के बारे में सब कुछ जानता है। 20 लाख नहीं देने पर परिवार को मार डालने की धमकी दी थी। जांच टीम ने कॉलर का फ़ोन नंबर लिया। जो बहादुरगढ़ हरियाणा की तरफ का पता चला। इस बीच पता चला कि कॉलर ने उसी फ़ोन नंबर से वहीं के रहने वाले एक जैकी नाम के व्यक्ति को भी इसी तरह से फ़ोन किया था। जिसने बवानिया से बात करवाने की बात की थी। लेकिन नेटवर्क प्रॉब्लम होने से वह बात नहीं करवा पाया था। जांच टीम जैकी से भी मिली। दूसरी कॉल कॉलर ने दिल्ली से की थी। जैकी ने बताया कि उसकी एक पूर्व गर्लफ्रैंड प्रिया थी। जिसको उसने छोड़ दिया था। उसके बारे में भी कॉलर जनता था। प्रिया ने बाद में शादी कर ली थी। जो अब हरियाणा में ही रह रही थी। जिससे वो बाद में कभी नहीं मिला था। लड़की का हो सकता है कि बवानिया के किसी रिश्तेदार से अफ़ेयर हो। लड़की का मामला बीच में आने के बाद पुलिस की जांच और ज्यादा बिगड़ गई। जांच टीम ने बवानिया के बदमाशों के बारे में पता किया। यह भी पता चला कि बवानिया के घर कोई लड़की गई थी। जिसको इसका दोस्त पंकज खुद को बवानिया का भाई बताया करता है। पंकज ने लड़की को बताया था कि उसके घर मे किसी की मौत हो गई है। जब पुलिस टीम घर गई तो परिवार ने बताया कि उनके यह कोई मोत नही हुई ह और न ही कोई पंकज को वे जानते हैं। जांच टीम ने लड़की से सम्पर्क किया। लड़की ने बताया कि उसकी दोस्ती सौरभ से थी। जिसने उसके साथ झूठ बोला था और बवानिया का भाई बताया था। दूसरी तरफ नरेला इंडस्ट्रियल एरिया में रहने वाली पीड़ित महिला ने बताया कि उसके बेटे की शादी प्रिया से हुई थी। जो दस बारह दिन में ही टूट गई थी। पुलिस को अब सौरव की तलाश थी। जिसको एक सूचना पर पकड़ लिया। आरोपी से पता चला है कि उसने बहादुरगढ़ इलाके से एक लेबर का फ़ोन चोरी किया था। उसके करीबी से लड़की का फ़ोन नंबर मिला। जिससे वह फ़ोन पर बात करने लगा था। वह लड़की से प्यार करने लगा था और शादी करना चाहता था। प लड़की को किसी भी हालत में नही छोड़ना चाहता है। उसने अपने पिता के रिटायरमेंट के पैसे से लड़की को ज्वेलरी और गिफ्ट दिए थे। लड़को को उसने बवानिया का भाई बता रखा था। उसने बवानिया की यू ट्यूब पर वीडियो देखी हैं। वह बवानिया भी से काफी प्रभावित है। लेकिन जब लड़की ने परिवार से मिलने की बात कही। तो उसने कहा था कि उसके घर मे अंकल का देहांत हो गया है। जब लड़की शौक मनाने घर पहुँची। उसकी असलियत सामने आ गई। जिसके बाद लड़की ने उससे मिलने से मना कर दिया था। वह लड़की उसकी जिंदगी के बारे में सब कुछ जान गई थी। जिस जिसने भी लड़की को दुखी किया है वह चाहे जैकी हो या खेड़ा उसका पूर्व पति और चाहे उसकी सास हो किसी को भी शांति से नही बैठा देख सकता था। उनसे लड़की के दुःखीपन का बदला लेना चाहता था। तभी उसने फ़ोन चोरी किया और धमकी देकर 20 लाख की रंगदारी मांगी। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी-hindusthansamachar.in