पुलिस ने लूट व चोरी का समान बरामद कर लोगों को लौटाया
क्राइम

पुलिस ने लूट व चोरी का समान बरामद कर लोगों को लौटाया

news

नई दिल्ली, 22 सितम्बर (हि.स.)। विभिन्न अपराधों में दिल्ली पुलिस द्वारा जब्त किए गए सामान को अब उनके असली मालिकों तक लौटाने के काम में तेजी के साथ काम किया जा रहा है। कोर्ट की अनुमति लेकर उन लोगों का सामान लौटाया जा रहा है, जिनका सामान अपराध के दौरान चोरी हुआ था या लूटा गया था। अब तक इस कड़ी में 21 लाख रुपये से ज्यादा की नकदी और 5 किलो सोना लोगों को लौटाया गया है। पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव ने ट्वीट कर खुद इस बाबत जानकारी दी है। जानकारी के अनुसार जब भी कोई अपराध होता है तो उसमें आरोपी की गिरफ्तारी के साथ ही बरामदगी भी होती है। खासतौर से चोरी एवं लूट के मामले में बरामद हुआ, सामान पुलिस द्वारा जब्त कर लिया जाता है। यह एक केस प्रॉपर्टी होती है। जिसे मालखाने में रखा जाता है। कोर्ट से अनुमति मिलने के बाद ही इस सामान को उसके असली मालिक को दिया जाता है, लेकिन तब तक इसे मालखाने में ही रखा जाता है। एक तरफ जहां इससे मालखाने में सामान का बोझ बढ़ता है तो कई बार इसके खोने की आशंका रहती है। इसे ध्यान में रखते हुए पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव द्वारा एक खास अभियान चलाया गया है जिसके तहत लोगों को उनका सामान लौटाया जा रहा है। मालिकों तक पहुंचाए 21 लाख रुपये जानकारी के अनुसार दिल्ली पुलिस द्वारा बीते जून महीने से अभी तक 21.43 लाख रुपये, 120 अमेरिकी डॉलर और 325 पाउंड नकद लोगों को लौटाया गया है। इसके अलावा 4.97 किलो सोने के गहने भी उनके असली मालिक को अदालत की अनुमति के बाद दे दिए गए हैं। इनके अलावा 5 डायमंड के गहने एवं 113 चांदी के गहने भी लौटाए गए हैं। जहां तक गाड़ियों की बात है तो 3418 दुपहिया, 432 कार, 146 ऑटो लोगों को पुलिस ने लौटाए हैं। इसके अलावा भी 2243 अन्य सामान लोगों को वापस दिए जा चुके हैं। ऐसे लौटाया जा रहा है सामान पुलिस के अनुसार थाने में जमा केस प्रॉपर्टी को लेकर कोर्ट में इसे लौटाने के लिए आवेदन दिया जाता है। कोर्ट के आदेश के बाद उस शख्स से पुलिस संपर्क करती है जिसका सामान है। उसे थाने बुलाकर कुछ दस्तावेज लेने एवं हस्ताक्षर करवाने के बाद यह सामान लौटा दिया जाता है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि अब तक हजारों लोगों को उनका सामान वापस मिला है और इसे पाकर वह बेहद खुश हैं। इसके लिए पुलिस को धन्यवाद देते हैं। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी-hindusthansamachar.in