पुलिस ने दो लड़कियों को मुक्त कराया
क्राइम

पुलिस ने दो लड़कियों को मुक्त कराया

news

नई दिल्ली, 15 अक्टूबर (हि.स.)। दक्षिण-पूर्व दिल्ली के गढ़ी इलाके से दो सगे भाइयों ने शादी के जाल में फंसाकर 15 और 13 साल की दो किशोरियों को अगवा कर लिया। दोनों उन्हें ट्रेन से पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिला ले जा रहे थे। वारदात की भनक लगते ही दक्षिण-पूर्व जिला पुलिस ने जीआरपी की मदद से दोनों किशोरियों को कानपुर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन से बरामद कर लिया। पुलिस ने किशोरियों को अगवा कर ले जा रहे दोनों भाइयों को भी गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आरोपियों की पहचान मो. अमीरुल इस्लाम (22) और मो. तजरुल इस्लाम (19) के रूप में र्हु है। दोनों गढ़ी इलाके में एक सिलाई के कारखाने में काम करते थे। पुलिस दोनों से पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है। दक्षिण-पूर्व जिला पुलिस उपायुक्त आरपी मीणा ने बताया कि मंगलवार को 15 और 13 साल की दो किशोरियों के पिता अमर कालोनी थाने पहुंचे थे। दोनों ने बेटियों के अगवा होने की बात की। पूछताछ के दौरान दोनों ने बताया कि दोनों स्टेशनरी शॉप पर जाने की बात कर निकली थी। पुलिस ने फौरन अपहरण का मामला दर्ज कर छानबीन शुरू की। जांच के दौरान पता चला कि इलाके से सिलाई की फैक्टरी में काम करने वाले दो युवक भी गायब हैं। पुलिस ने आसपास की स्टेशनी शॉप पर जांच की तो एक दुकान से पता चला कि दोनों लड़कियां ट्रेन में रिजर्वेशन होने और बुधवार को जाने की बात कर रही थी। पुलिस ने आसपास ट्रेन रिजर्वेशन करने वालों को पता किया तो उन्हें बताया गया कि दोनों युवकों के बड़े भाई ने एक सितंबर को पांच टिकट दिल्ली-हावड़ा स्पेशन के बुक किए हैं। बुधवार को उनकी नई दिल्ली से ट्रेन है। पुलिस फौरन नई दिल्ली रेलवे स्टेशन भागी तब तक ट्रेन स्टेशन से निकल चुकी थी। दिल्ली पुलिस ने जीआरपी से मदद मांगी। जीआरपी ने ट्रेन के अगले स्टाप कानपुर पर जीआरपी को खबर कर दी। जीआरपी ने ट्रेन से दोनों किशोरियों को बरामद कर लड़कों को दबोच लिया। सूचना मिलने के बाद दिल्ली पुलिस की टीम सड़क मार्ग से कानपुर पहुंची और दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर दिल्ली ले आई। दोनों किशोरियों का मेडिकल कराने के बाद उन्हें भी परिवार के हवाले कर दिया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी-hindusthansamachar.in