पुलिस ने तीन साल के अपहृत मासूम मृत्युंजय को किया सकुशल बरामद
पुलिस ने तीन साल के अपहृत मासूम मृत्युंजय को किया सकुशल बरामद
क्राइम

पुलिस ने तीन साल के अपहृत मासूम मृत्युंजय को किया सकुशल बरामद

news

- दो दिन पहले घर से मासूम को उठा ले गयी थी आरोपी महिला - दी थी जान से मारने की धमकी, पुलिस ने किया गिरफ्तार - गोद में बेटा आते ही छलके मां के आंसू कानपुर, 30 जुलाई (हि.स.)। बर्रा के संजीत अपरहण व हत्याकांड की घटना को पुलिस अभी पूरी तरह से अनावरण ही नहीं कर पायी थी कि कर्रही से चार साल के मासूम का अपहरण हो गया। मासूम के अपहरण की घटना की जानकारी पर सक्रिय हुई पुलिस ने सर्विलांस के साथ जाल बिछाना शुरु कर दिया और गुरुवार को सकुशल बरामद कर लिया। पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार करते हुए मासूम को उसकी मां को सौंप दिया। गोद में बेटा के आते ही मां के आंसू छलक पड़े और पुलिस का शुक्रिया अदा किया। संजीत अपहरण-हत्याकांड को लेकर बर्रा थाना पुलिस की जमकर किरकिरी हो रही है और इससे उबरने के लिए पुलिस हर वह संभव प्रयास कर रही है कि किसी तरह से घटना का पूरी तरह से अनावरण हो सके। इसी बीच कर्रही से तीन साल का मासूम रहस्यम ढंग से लापता हो गया और परिजनों ने अपहरण की आशंका जताई। अपहरण का मामला सामने आते ही पुलिस हरकत में आयी और दो दिन के अंदर बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया। थाना प्रभारी हरमीत सिंह ने गुरुवार को बताया कि कर्रही रोड पुरानी सब्जीमंडी निवासी दुर्गेश कुमार स्वीट्हाउस में काम करते हैं और परिवार में पत्नी शिवानी और तीन साल के बेटे मृत्युंजय के साथ रहते हैं। शिवानी ने पुलिस को बताया था कि 28 जुलाई की शाम मृत्युंजय रहस्मय ढंग से लापता हो गया था, उसने शाम को घर आई सूरज गुप्ता की पत्नी मंशा पर चारपाई पर बैठे बेटे को अगवाकर हत्या करने की आशंका जताई थी। इस पर पुलिस तत्काल सक्रिय हो गई और गुरुवार को आरोपित महिला को गिरफ्तार करके मासूम को सकुशल बरामद किया गया है। आरोपित महिला के खिलाफ अग्रिम कार्रवाई की जा रही है। वहीं सकुशल बच्चा मिलने पर माता-पिता खुशी से फूले नहीं समा रहे हैं और पुलिस की सक्रियता पर कसीदे पढ़ रहे हैं। पति पर शक कर रही आरोपित महिला पुलिस ने आरोपित महिला को गिरफ्तार कर लिया है और उससे सख्ती से पूछताछ की कि बच्चे के अपहरण के पीछे का क्या कारण था। इस पर आरोपित महिला मंशा ने बताया कि प्रहलाद उसका दूसरा पति है। पति समय बेसमय घर से निकल जाता है और उसे शक था शिवानी के घर में उसका पति है। इस पर 28 जुलाई की शाम को शिवानी के घर गयी तो वहां पर पति नहीं मिला। इससे मुझे गुस्सा आया और चारपाई पर बैठे मासूम को उठा लाई और वहीं रखा एक मोबाइल को भी साथ ले गयी। इसके बाद शिवानी को फोन करके कहा था कि पुलिस में शिकायत की तो मृत्युजंय को मार दूंगी। एसपी साउथ ने बताया कि आरोपित महिला अपने बचने के लिए बहाने गढ़ रही है, लेकिन उसकी नियत पूरी तरह से अपरहण की रही और पुलिस ने समय से बच्चे को बरामद कर लिया। बताया कि आरोपित महिला मंशा बच्चे को लेकर अपने रिश्तेदार घर उन्नाव गई थी। कुछ देर रुकने के बाद वह रायबरेली की तरफ निकल पड़ी, जिसकी जानकारी सर्विलांस टीम को हुई। इसके बाद मंशा घूमकर फिर दामोदरनगर नहर के पास आई थी, यहां पर पुलिस टीम ने उसे दबोच लिया। हिन्दुस्थान समाचार/अजय/मोहित-hindusthansamachar.in