पुलिस की वर्दी में पकड़ी गई वसूलीबाज दो युवतियां
क्राइम

पुलिस की वर्दी में पकड़ी गई वसूलीबाज दो युवतियां

news

रीवा, 24 जुलाई (हि.स.)। पुलिस की वर्दी पहनकर लोगों को डरा धमका कर पैसा लूटने वाले गिरोह का खुलासा रायपुर कर्चुलियन पुलिस ने करके चार लोगों को गिरफ्तार किया है। इस लूट गिरोह में पुलिस की वर्दी में दो नाबालिग युवतियों को भी गिरफ्तार किया है। घटना का विवरण बताते हुए थाना प्रभारी आदित्य प्रताप सिंह ने बताया कि 24 जुलाई को मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई कि एक बुलेरो वाहन एमपी 17 सीएस 6938 में दो महिला पुलिस की वर्दी में बैठी है एक व्यक्ति सिविल में बैठा है एक व्यक्ति वाहन को चला रहा है जो गोरगाव रोड से मोधमा ) में बिना मास्क लगाये आने जाने वाले लोगो रोककर डरा धमका कर पैसे वसूल रहै है कभी रीवा पुलिस बताती है तो कभी दिल्ली पुलिस बताती है ऐसा लगता है कि ये लोग फर्जी पुलिस बनकर लोगो से पैसे वसूल रहे मुखबिर की सूचना पर तत्काल पुलिस टीम तैयार कर मुखबिर के बताये स्थान पर भेज कर जांच कराई गई जो उक्त नम्बर की बुलेरो वाहन ग्राम गोरगांव में मनिकवार रोड में जाते दिखी जिसका पीछा कर पकड़ा गया जिसमे दो महिला पुलिस की वर्दी मे बैठी मिली। एक व्यक्ति सिविल कपड़े में बैठा मिला एवं एक व्यक्ति वाहन की ड्राइवर सीट मे वाहन को चलाते पाया गया दोनो महिलाओ की नेम प्लेट मे चेस्ट नंबर लिखा था जिसमे एक वैध नम्बर थाने में पदस्थ आरक्षक का बैच नम्बर 565 लिखा था एक वैच नम्बर 588 लिखा था जो संदिग्ध अवस्था में पाये जाने से अभिरक्षा मे लेकर पूछताछ की गई जो सिविल कपड़े मे बैठे व्यक्ति के द्वारा बताया गया कि मै आशोक पटेल पिता केमला पटेल उम्र 38 वर्ष निवासी खेरा थाना लौर का रहने वाला इलाहाबाद उप्र मे हैचरी मे रह कर मजदूरी का काम करता था वही नागेन्द्र यादव पिता कृष्णपाल यादव उप 22 वर्ष निवासी इटहा बाना सगरा का रहने वाला है जो डायवरी का काम करता है प्राइवेट गाड़ी में बुकिंग का काम करता है जिसकी जान पहचान मुझसे हो गई लाकडाउन मे मै अपने घर आ गया जो इटोरा मे किराये का कमरा लेकर अपने परिवार के साथ रहता था अपने घर मे एक योजना बनाया कि मेरी नाबालिक लड़की एवं मेरी लड़की की नाबालिक सहेली पुलिस मे जाने की इच्छा रखती है जो अपनी लड़कियो को पुलिस की बर्दी का कपड़ा खरीद कर अपनी नाबालिक लड़की एवं लड़की की सहेली के नाप की वर्दी रीवा से सिलवाया एवं म0 प्र0 पुलिस का बैच बिल्ला, टोपी, बेल्ट, नेम प्लेट फर्जी बेच एवं सूज खरीद कर लड़कियो को पहना कर अपने साथी नागेन्द्र यादव जो वाहन बुलेरो क्र एमपी 17 सीएस 6938 का चालक है जिसके साथ साठगाठ कर 21 जुलाई 20 से लगातार वाहन बुलेरो एमपी 17 सीएस 938 मे स्वयं अधिकारी बनकर एवं अपनी लड़की व अपनी लड़की की सहेली को पुलिस की वर्दी पहनाकर वाहन मे बैठ कर रोधा इटौरा से लेकर रायपुर कर्चुलियान , लौर तक बाइक से बिना मास्क लगाये आने जाने वालो को रोक कर डरा धमका कर पैसे वसूलते थे 23 जुलाई 20 को ग्राम गोरगाव 164 के सुरेश प्रसाद पटेल पिता गैबी प्रसाद पटेल के घर उक्त वाहन बुलेरो क्र एमपी 17 सीएस 6938 से चारो लोग पहुंच कर सुरेश के घर मे गाजा बेचने की बात कह कर उसके घर की तलासी लो गई जब घर में कुछ नहीं मिला तो उसे डरा धमका कर गाजे के प्रकरण मे फंसा देने की बात कह कर 20000 की मांग की गई व उससे 5000 लेकर चले गये आज दिनांक 24.07.20 को फरियादी सुरेश प्रसाद पटेल पिता गेवी प्रसाद पटेल निवासी गोरगांव का मिला जो घटना की बात बताया जिसकी रिपोर्ट पर थाना में अपराक्र 0 267/20 धारा 419,420,1741.389.34 ताहि का कायम कर विवेचना मे लिया। गिरफ्तार आरोपियों में अशोक पटेल पिता केमला पटेल 38 वर्ष निवासी खैरा थाना लीरहाल इटीरा थाना विश्वविद्यालय नागेन्द्र यादव पिता कृणपाल यादव उम्र 22 वर्ष निवासी इटहा धाना सगरा जिला रीवा के साथ दो नाबालिग लड़किया शामिल हैं। हिन्दुस्थान समाचार/विनोद शुक्ल/राजू-hindusthansamachar.in