परिजनों ने लगाया आरोप, महिला डॉक्टर ने प्रसूता को मारा घूसा
क्राइम

परिजनों ने लगाया आरोप, महिला डॉक्टर ने प्रसूता को मारा घूसा

news

ग्वालियर, 10 सितम्बर (हि.स.)। कमलाराजा अस्पताल में बेटी को जन्म देने के बाद प्रसूता को खाली पड़ी बैंच में बैठना उस समय महंगा पड़ गया, जब प्रसूता को बैंच पर बैठा देख ड्यूटी महिला चिकित्सक ने आपा खो दिया और प्रसूता के पेट में घूसा मार दिया। इस मामले की शिकायत तत्काल पति ने डायल- 100 व सीएम हेल्पलाइन से की है। वहीं घूसा जोर से लगने के कारण प्रसूता दर्द से लगातार कराह रही है। जानकारी के अनुसार उपनगर सुभाष नगर निवासी संतोष कुमार पेशे से मजदूरी करता है, संतोष ने पत्नी आरती को डिलेवरी के लिए केआरएच में भर्ती कराया था। गुरुवार अल सुबह तीन बजकर छब्बीस मिनट पर उसने लडक़ी को सामान्य डिलवेरी के दौरान जन्म दिया। सुबह जब प्रसूता आरती वार्ड में पड़ी बैच पर बैठी हुई थी तभी ड्यूटी डॉक्टर ने उसे बैंच पर बैठा देख तत्काल बंैच से उठने को कहा, लेकिन जब उसे प्रसव पीड़ा के बाद शरीर में हो रहे दर्द के कारण उठने मे समय लगा तो ड्यूटी डॉक्टर ने प्रसूता आरती के पेट में घूसा मार दिया। जिससे उसकी तबियत बिगड़ गई। घूसा मारने का आरोप आरती के साथ मौजूद उसकी ममेरी ननद विमला ने लगाया। डायल 100 को दी सूचना घूसा मारने की जानकारी बहन विमला ने भाई संतोष को वार्ड में बुलाकर दी। वहीं आरती को दर्द से क राहता देख संतोष ने घटना की जानकारी डायल-100 के साथ ही सीएम हेल्पलाइन तक को दे डाली। वहीं संतोष ने अस्पताल प्रबंधन पर आरोप लगाया कि इस घटना की जानकारी अस्प्ताल प्रबंधन को देने के बाद भी कोई भी हमारी मदद करने नहीं आया। आरोप बताया गलत वहीं केआरएच की विभागाध्यक्ष वृंदा जोशी ने बताया कि प्रसूता आरती डॉ. मौर्य मेडम की यूनिट में भर्ती है, डिलेवरी के बाद प्रसूता को जब सुबह हाथ पैर चलाने को कहा तो उल्टे प्रसूता ने ही ड्यूटी डॉक्टर के हाथ में नोंच लिया। जबकि महिला डॉक्टर द्वारा घूसा मारने की बात सरासर गलत है। डॉ.जोशी ने कहा कि यदि परिजनों को शिकायत करना है तो वे मेरे पास आकर लिखित शिकायत करें, जिससे इस मामले का तत्काल निराकरण कर सकूं । हिन्दुस्थान समाचार / श्याम / मुकेश-hindusthansamachar.in