नाबालिग ने किले से लगाई छलांग, जान बची
क्राइम

नाबालिग ने किले से लगाई छलांग, जान बची

news

नाबालिग ने किले से लगाई छलांग, जान बची ग्वालियर, 12 सितम्बर (हि.स.)। शाम के समय एक किशोरी बिना बताए घर से निकलरकर किले पर पहुंच गई। आत्महत्या करने के इरादे से उसने किले से छलांग लगा दी। लेकिन झाडिय़ों में फंसने के कारण उसकी जान बच गई। पुलिस ने नाबालिग को झाडिय़ों से निकाला और पूछताछ की। पुलिस घटना के संबंध में जांच पड़ताल कर रही है। महलगांव फूलबाग के पास रहने वाली 15 वर्षीय किशोरी के पिता आटो चलाकर घर का पालन पोषण करते हैं। शनिवार शाम के समय नाबालिग घर से निकलकर किले पर पहुंच गई। नाबालिग ने आत्महत्या के इरादे से किले से छलांग लगा दी। बताया गया है कि नाबालिग आऊखाना की ओर झाडिय़ों में जाकर उलझ गई। जैसे ही लोगों की नजर नाबालिग पर पड़ी पुलिस को सूचना दी। नाबालिग के किले से कूदकर आत्महत्या करने का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और काफी मेहनत के बाद नाबालिग को झाडिय़ों से बाहर निकाला। इस संबंध में ग्वालियर थाने में पदस्थ उपनिरीक्षक योगेन्द मावई का कहना है कि नाबालिग के सिर में बहुत मामूली चोट आई हैं, उसकी जान बचने पर पुलिस ने राहत की सांस ली। पुलिस पूछताछ में पीडि़ता ने बताया कि दो दिन पहले पिता और चाचा ने उसके पास मोबाइल देख लिया था। इसलिए उसे डांट दिया था। पिता व चाचा से नाराज होकर नाबालिग किले पर आत्महत्या करने के लिए पहुंची थी। पुलिस ने मामलें की विवेचना प्रारंभ कर दी है। हिन्दुस्थान समाचार/शरद/केशव-hindusthansamachar.in