दो वर्षीय बच्ची का अपहृत मामला: अपहरणकर्ताओं के चंंगुल से महज 48 घंंटे में बच्ची को कराया मुक्त
क्राइम

दो वर्षीय बच्ची का अपहृत मामला: अपहरणकर्ताओं के चंंगुल से महज 48 घंंटे में बच्ची को कराया मुक्त

news

जयपुर,24 जुलाई(हि.स.)। प्रताप नगर थाना पुलिस ने बुधवार रात घर के बाहर खेल रही दो वर्षीय अपहृत मासूम को शुक्रवार को दस्तयाब कर लिया है। पुलिस ने बच्ची के अपहरण मामले में चार बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पुलिस आरोपितों से पूछताछ कर रही है। पुलिस उपायुक्त जयपुर (पूर्व) डॉ. राहुल जैन ने बताया कि अपहरण के मामले में आरोपित नीरज कुमार गुर्जर (30) निवासी बालघाट करौली हाल रॉकड़ी सोडाला, जितेन्द्र गुर्जर (31) निवासी जगदीश विहार लुणियावा खानिया बंधा जयपुर, राजामोहन (27) निवासी तुलसी नगर गौशाला सांगानेर और राहुल सिंह बैरवा (27) निवासी खेडली अलवर हाल सुल्तान नगर गुर्जर की थड़ी मानसरोवर को गिरफ्तार किया है। आरोपित नीरज कुमार गुर्जर और राहुल सिंह बैरवा दोनों उबर कंपनी में गाड़ी चलाते है। आरोपित जितेन्द्र गुर्जर की पत्नी को बच्चे की थी आवश्यकता राहुल जैन ने बताया कि आरोपितों से पूछताछ में सामने आया है कि आरोपित जितेन्द्र गुर्जर की पत्नी को बच्चे की आवश्यकता महसूस हुई। जिस पर जितेन्द्र ने साथी राजामोहन से कोई बच्चा तलाश करने की कहा। जिसने नीरज व राहुल मीणा से बच्चे को लाने की कहा। बाइक पर दो वर्षीय बच्ची का अपहरण कर नीरज को दे दिया गया। एसएचओ पुरूषोत्तम मेहरिया के नेतृत्व में जुटी टीम ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर बदमाशों को धर-दबोचा। पूछताछ में सामने आया है कि रामनगरिया इलाके से भी इन्हीं बदमाशों ने तीन वर्षीय बच्ची का अपहरण किया था, लेकिन पकड़े जाने के भय से जगतपुरा पुलिया के नीचे छोडक़र चले गए थे। महरिया ने बताया कि थाना इलाके में स्थित धेलावास बालाजी के पास गोमती अपार्टमेंट के पास खानाबदोश नट परिवार रहते है। राजाबाबू की दो वर्षीय बेटी दामनी बुधवार रात अपनी बड़ी बहन के साथ खेल रही थी। रात करीब साढ़े 8 बजे घर के बाहर खेलते समय बाइक सवार दो बदमाश आए, जो मासूम दामनी का अपहरण कर ले गए। बड़ी बहन ने बाइक सवार बदमाशों के दामनी को उठाकर ले जाने के बारे में परिजनों को बताया। परिजनों ने तुरंत पुलिस को सूचना दी। सूचना पर प्रताप नगर थाना पुलिस ने ए-श्रेणी की नाकाबंदी कराने के साथ ही अपहरणकर्ता और अपहृत बच्ची की तलाश में करीब आधा दर्जन से अधिक पुलिस टीमों को अलग-अलग दिशा निर्देश देकर रवाना किया गया था। जिसके आधार पर आरोपितोंं को गिरफ्तार करने में सफलता मिली। फिलहाल आरोपितों का आपराधिक रिकॉर्ड खंगाला जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/दिनेश/संदीप-hindusthansamachar.in