दूध संचालक की हत्या मामले में मुख्य आरोपी समते दो लोग गिरफ्तार
क्राइम

दूध संचालक की हत्या मामले में मुख्य आरोपी समते दो लोग गिरफ्तार

news

पटना, 24 जुलाई (हि.स)। सुधा बूथ संचालक विनय तिवारी की हत्या मामले में पटना पुलिस ने शुक्रवार को मुख्य आरोपी मो. अरशद और उसके दो अन्य साथियों को गिरफ्तार कर लिया। पटना के एसएसपी ने पत्रकारों से बात करते हुए इस बात की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि मो.अरशद और उसके साथियों ने अपना अपराध स्वीकार करते हुए कहा कि 21 जुलाई की शाम मो. अरशद ने 100 रुपए का खुदरा विनय तिवारी से लिया था। लेकिन, इसी क्रम में दोनों के बीच विवाद हो गया था। विवाद मारपीट तक पहुंच गया था और विनय ने मुझे इतनी पिटाई कर दी थी कि मेरी नाक से खून निकल गया था। इससे आक्रोशित होकर हमने साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस के अनुसार यह सबकुछ गाय घाट पुल के नीचे हुआ था जहां पर विनय तिवारी का सुधा बूथ है। अरशद ने पुलिस को बताया कि विनय से बदला लेने के लिए हम लोग 21 जुलाई की रात में फिर वहां गए थे लेकिन विनय ने अपने साथियों के साथ मिलकर मुझे और मेरे साथी मो. राजा उर्फ बादशाह और मणि सहनी की भी पिटाई कर दी थी । इसके बाद हम लोगों ने तय कर लिया था कि 22 जुलाई को पहले विनय तिवारी की हत्या करेंगे फिर हम और कोई काम करेंगे। इसके लिए हम लोगों ने रात में पिस्टल की व्यवस्था की और फिर गुरुवार की सुबह 5 बजे हम लोग गायघाट पुल के पास पहुंच गए। हम लोगों को पता था कि विनय पहले मन्दिर जाता है फिर वह अपनी दुकान खोलने जाता है। इसलिए हम लोग पुल के पास ही उसका इंतजार करने लगे। विनय को वहां आते देखकर हम लोगों ने बिना सोचे उसपर हमला कर दिया जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई। बताते चलें कि पूरे मामले की छानबीन के लिए एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा ने एएसपी मनीष कुमार, आलमगंज के थानेदार सुधीर कुमार की एक टीम बनाई थी। पुलिस को मामले की छानबीन के क्रम में सीसीटीवी में मो. राजा उर्फ बादशाह और मणि सहनी पर नजर पड़ी। पुलिस ने जब दोनों को पकड़ा तो उनके पास से 2 देशी कट्टे और कुछ कारतूस भी बरामद हुए । पुलिस ने जब दोनों से पूछताछ की तो पूरा मामला खुल गया और उसकी ही निशानदेही पर पटना पुलिस ने मुख्य अभियुक्त मो. अरशद को राजा घाट से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसके पास से भी एक देशी कट्टा बरामद किया है। एएसपी मनीष कुमार ने बताया कि चांद कॉलोनी का रहने वाला अरशद पहले भी हत्या और आर्म्स एक्ट में जेल जा चुका है। हिन्दुस्थान समाचार/ राजेश/विभाकर-hindusthansamachar.in