तीन तलाक कहकर महिला को घर से निकाला

तीन तलाक कहकर महिला को घर से निकाला

जालौन, 25 जुलाई (हि.स.)। हालांकि अब तीन तलाक कहकर किसी महिला को अलग नहीं किया जा सकता। आज एक मामला कोच कस्बे के भगत सिंह नगर से आया है। जहां निशा अंजुम पत्नी इरफान अंसारी निवासी राम चबूतरा कालपी ने बताया कि उसका मायका कस्बे के भगत सिंह नगर में है उसने कोतवाली पुलिस को प्रार्थना पत्र देकर बताया कि उसका विवाह वर्ष 2017 में हुआ था। शादी के वक्त उसके पिता ने अपनी हैसियत से भी ज्यादा दान दहेज दिया था लेकिन दहेज के भूखे उसके ससुराल जनों ने उसके ऊपर मायके से और दहेज के रूप में 200000 लाने के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया। इसी बात को लेकर अक्सर उसकी मारपीट की जाती तब उसने इसकी शिकायत अपने परिजनों से की। गुरुवार को उसका पति तथा अन्य ससुरालीजन समझौता कराने के नाम पर कुछ उसके घर आए और उसकी गोद में खेल है। उसके 2 साल के बेटे को उसके पति ने छीनने का प्रयास किया तो उसने विरोध कर दिया। इसी बात पर उन लोगों ने उसकी मारपीट कर दी और पति इरफान तीन बार तलाक तलाक कहकर उसे छोड़कर चला गया। निशा ने ससुराल जनों के खिलाफ कार्रवाई करने की गुहार लगाई पुलिस मामले की जांच कर कार्रवाई करने की बात कह रही है। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल-hindusthansamachar.in

अन्य खबरें

No stories found.