जेल से फरार हुए हिस्ट्रीशीटर का सुराग नहीं लगा, हेडवार्डर को निलम्बित
जेल से फरार हुए हिस्ट्रीशीटर का सुराग नहीं लगा, हेडवार्डर को निलम्बित
क्राइम

जेल से फरार हुए हिस्ट्रीशीटर का सुराग नहीं लगा, हेडवार्डर को निलम्बित

news

बांदा, 24 जुलाई (हि.स.)। सूबे के सबसे सुरक्षित घोषित हो चुके मंडल कारागार से गुरूवार दोपहर सुरक्षाकर्मियों की नजरें बचाकर फरार हुए हिस्ट्रीशीटर का शुक्रवार को दूसरे दिन भी पुलिस पता नहीं लगा सकी। फरार हिस्ट्रीशीटर के खिलाफ कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया। उधर, मामले की जांच करने लखनऊ से आए डीआईजी जेल बीआर वर्मा ने बंदियों की निगरानी में लापरवाही करने वाले हेडवार्डर को निलम्बित कर दिया। ड्यूटी में मौजूद रहे तीन होमगार्डों के खिलाफ दण्डात्मक कार्यवाही के लिए जिला होमगार्ड कमांडेन्ट को पत्र लिखा गया है। बता दें कि, मंडल कारागार में निरूद्ध कमासिन थाना क्षेत्र के ममसीखुर्द गांव निवासी बच्छराज यादव पुत्र रंजीत को गुरूवार दोपहर 46 अन्य बंदियों के साथ बगिया कमान में भेजा गया था। इनकी ड्यूटी में हेडवार्डर सत्येन्द्र सिंह और तीन होमगार्ड लगाए गए थे। मौका पाकर हिस्ट्रीशीटर बन्दी बच्छराज भाग निकला। सुरक्षा में तैनात सिपाही और होमगार्ड को भनक तक नहीं लगी। उधर, जब शाम छह बजे बगिया कमान के बंदियों को उनकी बैरिकों में भेजने के लिए वापस लाया गया तो गिनती में एक बंदी कम मिला। जेल अधिकारियों को जब इसकी जानकारी हुई तो सभी सन्न रह गए। अफरा-तफरी मच गई। बांकी बंदियों को उनकी बैरिकों में भेजकर बच्छराज की तलाश की गई लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। जेल प्रशासन देर रात तक बंदी के भाग जाने की खबर को छिपाए रहा। हालांकि रात 9 बजे जब फेसबुक में बंदी के भाग जाने की खबर वायरल हुई तो जिले भर में हड़कम्प मच गया। डीएम अमित सिंह बंसल ने मामले को संज्ञान में लेकर तत्काल सूचना डीआईजी जेल लखनऊ बीआर वर्मा को दी। शुक्रवार दोपहर डीआईजी जेल बांदा पहुंचे। इन्होंने जेल का गहन निरीक्षण किया। बंदियों और जेल कर्मियों से पूछतांछ की। बाद में उन्होंने मीडिया को बताया कि बगिया कमान के लिए जहां बंदी भेजे गए थे। वहां लगे दरवाजे में इतना गैप था कि साधारण व्यक्ति आसानी से निकलकर भाग सकता है। उन्होंने बंदी के फरार होने की यही बड़ी वजह बताई। कहा कि इस मामले में हेडवार्डर सत्येन्द्र सिंह को निलम्बित कर ड्यूटी में मौजूद तीन होमगार्डों के खिलाफ दण्डात्मक कार्यवाही के लिए पत्र लिखा गया है। हिन्दुस्थान समाचार/अनिल/मोहित-hindusthansamachar.in