चौबीस घंटे बाद भी पुलिस नहीं ढूंढ सकी अपहृत सर्राफा व्यापारी
चौबीस घंटे बाद भी पुलिस नहीं ढूंढ सकी अपहृत सर्राफा व्यापारी
क्राइम

चौबीस घंटे बाद भी पुलिस नहीं ढूंढ सकी अपहृत सर्राफा व्यापारी

news

- खून से सनी अपहृत व्यापारी की शर्ट हो चुकी है बरामद हमीरपुर, 22 नवम्बर (हि.स.)। राठ कोतवाली से महज कुछ ही दूरी पर सर्राफा व्यवसाई के भाई अपहरण की वारदात को 24 घंटे से अधिक गुजर जाने के बाद भी पुलिस अभी तक अपहृत व्यापारी को खोज नहीं पाई है। जबकि इस मामले में रविवार को पुलिस ने पकड़े गये एक आरोपी को जेल भेज दिया है। इस सनसनी खेज वारदात को लेकर जनपद सहित मंडल के पुलिस आलाधिकारी रात भर राठ कोतवाली में डेरा डाले रहे। बता दें कि, बीते शनिवार की शाम सर्राफा व्यवसाई के भाई के अपहरण की वारदात से कस्बा सहित क्षेत्र में सनसनी फैल गई थी। अपहृत के भाई सर्राफा व्यवसाई पठनऊ मोहल्ला निवासी मनोज कुमार स्वामी पुत्र केशव प्रसाद ने बताया कि उसका भाई अनिल सोनी वैष्णो देवी जाने के लिए टिकट बुक कराने के लिए पड़ाव स्थित ऑनलाइन सेंटर की दुकान पर गया था, तभी अवैध असलाहों से लैस करीब आधा दर्जन लोग तीन बाइकों पर सवार होकर वहां आए और भाई के साथ मारपीट करते हुये अपहरण कर ले गए। अपहृत युवक की शर्ट मारुति पॉइंट के सामने वाली गली के अंदर हनुमान जी के मंदिर के पास मिली थी। तब से उसके भाई का कुछ पता नहीं है। अपहरण की खबर मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था। इस मामले में पुलिस ने अपहृत युवक के भाई मनोज सोनी की तहरीर पर सूरज यादव, मोना यादव निवासी मोहल्ला दीवानपुरा राठ व मोहन गुप्ता निवासी मोहल्ला मियांपुरा के अलावा 5 अज्ञात लोगों के विरुद्ध धारा 364 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया था। घटना की जानकारी मिलते ही देर रात एसपी नरेंद्र कुमार सिंह, एएसपी संतोष कुमार सिंह राठ पहुंचे। कुछ देर बाद आईजी चित्रकूट के सत्यनारायण ने भी राठ पहुंचकर घटना स्थल कर निरीक्षण किया। वारदात को लेकर रात भर पुलिस के आलाधिकारी कोतवाली में ही कैंप करते रहे। वहीं अपह्रत युवक को बरामद करने के लिये रात भर कस्बा सहित क्षेत्र में पुलिस सुराग पता करती रही। इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी मोहन गुप्ता को रात में गिरफ्तार कर लिया था, जिसे आज जेल भेज दिया गया है। हालांकि नामजद दो आरोपियों के अलावा पांच अज्ञात अभी भी फरार है। पुलिस ने परिजनों सहित फरार आरोपियों के करीबियों के ठिकानों पर छापेमारी भी की है। साथ ही कुछ लोगों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ शुरू कर दी है। आरोपी व अपह्रत युवक में था सट्टा का लेन देन इस वारदात के संबंध में आईजी चित्रकूट के. सत्यनारायण ने रविवार को बताया कि अपहृत अनिल सोनी और आरोपी मोहन गुप्ता के बीच बातचीत का एक ऑडियो मिला है। जिसमें दोनों के बीच पौने तीन लाख रुपये के लेनदेन को लेकर विवाद हो रहा है। आईजी ने बताया कि लापता अनिल सोनी सटटा और जुआ खिलाता था। कहीं न कहीं इस कारोबार से मोहन गुप्ता भी जुड़ा हुआ था। ऑडियो में बातचीत के दौरान रुपये के लेनदेन को लेकर हुआ विवाद वारदात का मुख्य कारण हो सकता है। आईजी ने बताया कि खुलासे के लिये पुलिस की आठ टीमें लगाई गई हैं। जिसमें स्वाट टीम के अलावा राठ, मझगवां, जरिया, चिकासी, मुस्करा, मौदहा, ललपुरा पुलिस रात दिन आरोपियों संदिग्ध ठिकानों पर दबिश दे रही हैं। जल्द अपहृत युवक को बरामद कर लिया जायेगा। अपहृत व्यापारी पर दर्ज हैं मुकदमे पुलिस ने अपहृत अनिल सोनी के अपराधिक इतिहास का खुलासा किया है। पुलिस के अनुसार, अनिल पर दुष्कर्म, हत्या का प्रयास, जुआ, गुंडा एक्ट सहित आधा दर्जन मामले दर्ज हैं। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/मोहित-hindusthansamachar.in