चमकाने के बहाने जेवरात उड़ाने वाले एक गैंग का खुलासा
क्राइम

चमकाने के बहाने जेवरात उड़ाने वाले एक गैंग का खुलासा

news

नई दिल्ली, 30 जुलाई (हि.स.)। छावला थाना पुलिस ने चमकाने के बहाने जेवरात उड़ाने वाले एक गैंग का खुलासा किया है। पुलिस गैंग के सरगना समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है जिसमें ठगी का सामान खरीदने वाला भी शामिल हैं। आरोपियों की गिरफ्तारी से पुलिस ने दिल्ली व एनसीआर के हुए 20 मामले सुलझाने का दावा किया है। जिला पुलिस उपायुक्त ऐंटो अल्फोंस ने बताया कि 21 जुलाई को 59 साल की महिला ने छावला थाने में ठगी की शिकायत की। उसने बताया कि वह बाजार गई थी। जहां उसकी मुलाकात दो लोगों से हुई। उन लोगों ने उसे अपने जेवरात साफ करवाने के लिए कहा। महिला ने मना कर दिया। आरोपियों ने महिला को एक बंडल दिया, जिसमें ऊपर दो हजार का नोट था। आरोपियों ने बताया कि जब तक वह जेवरात साफ कर रहे हैं वह इसे रखें। महिला राजी हो गई। आरोपियों ने जेवरात साफ करने के बाद उसे कागज में लपेटकर महिला को दे दिया और महिला से बंडल लेकर कार पर सवार होकर फरार हो गए। महिला ने कागज खोलकर देखा तो उसमें जेवरात की जगह पर लोहे के कड़े थे। पुलिस ने मामला दर्ज कर घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी को खंगाला। फुटेज में आरोपियों को कार से जाते हुए देखा गया। कार नंबर के जरिए पुलिस विकासनगर निवासी विरेंद्र कुमार गुप्ता के पास पहुंची और उसे गिरफ्तार कर लिया। इसके निशानदेही पर पुलिस ने उसके सहयोगी उत्तम नगर निवासी शंकर और ठगी का सामान खरीदने वाले मंगोलपुरी निवासी रामदास को गिरफ्तार कर लिया। इनके निशानदेही पर पुलिस ने लाखों के जेवरात, दस हजार रुपये, कागज के कतरन वाला बंडल, वारदात में इस्तेमाल कार और बाइक बरामद कर ली। तफ्तीश में पता चला कि मूलत: गांव कोरारी गिरधर शाह गांव अमेठी उत्तर प्रदेश ने निवासी विरेंद्र कुमार गुप्ता इंटरनेशनल कैब सर्विस में ड्राइवर का काम करता है। शंकर हॉकर का काम करता है और दिल्ली के विभिन्न इलाके में कपड़े बेचता है। वहीं रामदास मोबाइक वेंडर हैं और कमीशन पर मोबाइल खरीदता और बेचता है। विरेंद्र और शंकर वारदात को अंजाम देते थे और रामदास उनसे ठगी का सामान औने पौने दाम में खरीदकर उसे बेच देता था। आरोपियों ने बताया कि वह पार्ट टाइम में ठगी का धंधा करते हैं। अब तक उनलोगों ने दिल्ली के एम्स, हौजखास, लोधी कालोनी, डिफेेंस कालोनी, सफदरजंग, तिलक नगर, दिल्ली कैंट, सागरपुर, सुभाष नगर, कोटला मुबारकपुर, कालकाजी, गोविंदपुरी, जामिया नगर, राजौरी गार्डन, डाबड़ी, जनकपुरी के अलावा अन्य जगहों पर करीब २० से ज्यादा ठगी की वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी-hindusthansamachar.in