चतरा में मानवता हुई शर्मसार
क्राइम

चतरा में मानवता हुई शर्मसार

news

चतरा,31 जुुुला (हि. स.)। चतरा में शुक्रवार को मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आयी । एक 83 वर्षीय बृद्ध महिला के साथ दो युवकों ने किया सामूहिक बलात्कार का धिनौना काम अंजाम दिया । हमारे समाज में शराब इतना बड़ा दानव का रूप चुका है कि शराब के नशे में क्या बच्चा, क्या बूढ़ा किसी को नहीं पहचानते और शराब के नशे में धुत होकर किसी को भी अपने हवस का शिकार बनाने में जरा भी संकोच नहीं करते । ऐसा ही एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। जिले के राजपुर थाना क्षेत्र के केंदुवा सहोर गांव में। जहां बुधवार की मध्य रात्रि घर में अकेली सोइ हुई 83 वर्षीय बृद्ध महिला के साथ गांव के ही दो युवकों क्रमशः धनेश्वर सिह के 22 वर्षीय पुत्र राजेश कुमार सिंह एवं इसी गांव के ऋतु सिंह के 19 वर्षीय पुत्र रतन सिंह ने शराब की नशे में धुत्त होकर बारी-बारी से बालात्कार किया। इससे भी ज्यादा क्या मानवता को शर्मशार किया जा सकता है कि अपने दादी जैसी हम उम्र की बृद्ध महिला को अकेली घर में देख कर उसके साथ दोनों शराबियों ने बालात्कार किया हो। गुरुवार को इसकी जानकारी गांव के बुद्धिजीवियों को दिया गया।जिसके बाद गांव में मान मनौवल का भी दौर चला लेकिन जब युवकों ने ग्रामीणों के समक्ष बालात्कार से इनकार करने लगे तो गांव के ही ग्रामीणों ने बृद्ध महिला को लेकर राजपुर थाना पहुंचे। और बृद्ध 83 वर्षीय महिला ने आप बीती राजपुर थाने दर को लाठी के सहारे आकर बालात्कार की बात बताई तो कुछ देर के लिए थाना प्रभारी को भी समझ में नहीं आया लेकिन जब थाना प्रभारी मनोज पाल ने महिला को चिकित्सीय जांच के लिए अस्पताल भेजा तो सारी सच्चाई सबके सामने आ गई। महिला के द्वारा दिए गए आवेदन के छः घण्टे के अंदर राजपुर थाना प्रभारी मनोज पाल ने सहोर गांव से दोनों युवकों को गिरफ्तार कर थाना ले आए तथा दोनों को शुक्रवार को कोरोना जांच के बाद मण्डल कारा भेज दिया गया। थाना प्रभारी ने बताया कि दोनों युवकों से पुलिस ने जब पूछ ताछ किया तो दोनों ने स्वयं बृद्ध महिला के साथ बालात्कार की बात कबूल की। ग्रामीणों ने दोनों को फांसी की मांग की है। समाज में इस तरह के जघन्य अपराध करने वालों को सबक मिलना चाहिए। ग्रामीणों ने इस तरह के जघन्य अपराध करने वालों को फांसी देने की मांग की है। हिन्दुस्थान समाचार /नवीन /सबा एकबाल-hindusthansamachar.in