गोंडा पुजारी गोली कांड :  महंत और ग्राम प्रधान ने रची थी साजिश, सात गिरफ्तार
गोंडा पुजारी गोली कांड : महंत और ग्राम प्रधान ने रची थी साजिश, सात गिरफ्तार
क्राइम

गोंडा पुजारी गोली कांड : महंत और ग्राम प्रधान ने रची थी साजिश, सात गिरफ्तार

news

गोंडा, 17 अक्टूबर (हि.स.)। इटियाथोक थाना के तिर्रे मनोरमा गांव स्थित राम जानकी मंदिर की 125 बीघे जमीन को लेकर चल रहे विवाद में विरोधियों को फंसाने के लिए मंदिर के मुख्य पुजारी व वर्तमान ग्राम प्रधान समेत अन्य पुजारियों ने साजिश रच कर खुद को गोली मारने की योजना तैयार की है। इस साजिश का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने शनिवार को आठ अभियुक्तों में से सात अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। जबकि सम्राट दास का भी इलाज चल रहा है, वह घायल है। पुलिस अधीक्षक ने प्रकरण का खुुलासा कर बताया कि, 11 अक्टूबर की रात्रि दो बजे पुलिस को सूचना मिली की मंदिर के पुजारी सम्राट दास को हमलावरों ने गोली मार दी है। पुलिस के उच्चाधिकारियों ने घटनास्थल का निरीक्षण कर खुलासा करने के लिए एसओजी समेत पुलिस की अन्य कई टीमों को लगाया। इधर, पुलिस ने मंदिर के पुजारी सीताराम दास की तहरीर पर अमर सिंह सहित चार लोगों के विरुद्ध जानलेवा हमला सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर दो अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। पुलिस ने जब मामले की गहनता से जांच की तो पता चला कि मंदिर के मुख्य पुजारी सीतारामदास व वर्तमान ग्राम प्रधान ने अपने विरोधी अमर सिंह व उनके सहयोगियों को फंसाने के लिए साजिश रची है। अभियुक्तों ने बताया कि प्रधानी का चुनाव नजदीक है यदि अमर सिंह जेल चला गया तो वर्तमान ग्राम प्रधान के लिए चुनाव जीतना आसान हो जाएगा और बाबा का विरोधी भी फंस जाएगा। इस योजना के तहत पुजारी सम्राट दास को उस समय घर में घुसकर उन्हें खड़ा करके कंधे पर गोली मारी गई, जब पुजारी की सुरक्षा में तैनात दोनों होमगार्ड मंदिर परिसर के पास बाहर गश्त कर रहे थे। गोली की आवाज सुनकर जब होमगार्ड दौड़े तो अंधेरे का फायदा पाकर तीनों व्यक्तियों ने भागने के दौरान होमगार्ड पर भी फायर किया, लेकिन वह मिस हो गया। एसपी ने बताया की घटना तभी संदिग्ध लगने थी, जब जिला अस्पताल के डॉक्टर ने बताया कि कंधे से सटाकर पुजारी को गोली मारी गई है। इस मामले में गांव के ही मुन्ना सिंह, नीरज सिंह, सोनू सिंह, शिव शंकर सिंह, व प्रधान विनय सिंह सहित मंदिर के मुख्य पुजारी सीताराम दास को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। इनके कब्जे से तीन देशी तमंचा 315 बोर मय सात जिंदा कारतूस दो मोबाइल बरामद की किया है। उल्लेखनीय है कि पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मंदिर की 125 बीघा जमीन को लेकर गांव के पूर्व प्रधान अमर सिंह और मंदिर के महंत रामदास के बीच काफी दिनों से विवाद चल रहा है। इस जमीन को लेकर बीते वर्ष भी विवाद हुआ था। दोनों अभियुक्तों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था। कई मामलों में वांछित चल रहे पूर्व प्रधान अमर सिंह अभी हाल में ही जेल से छूटकर बाहर आए थे। योगी सरकार के खिलाफ एक और साजिश का पर्दाफाश महिला अपराध और संतों पर हो रहे हमले को लेकर लगातार विपक्ष हमलावर है। गोंडा में मन्दिर के पुजारी पर हुए हमले को लेकर भी विपक्षी दलों ने योगी सरकार को घेरा था। वहीं, पुलिस ने इस घटना का खुलासा करते हुए योगी सरकार के खिलाफ एक और साजिश का पर्दाफाश किया है। गोंडा में पुजारी को गोली मारने की घटना फर्जी थी। हिन्दुस्थान समाचार /महेन्द्र/दीपक/मोहित-hindusthansamachar.in