कोबरा कंमाडो ने भाकपा के जोनल कंमाडर आलोक यादव को मुठभेड में मार गिराया
क्राइम

कोबरा कंमाडो ने भाकपा के जोनल कंमाडर आलोक यादव को मुठभेड में मार गिराया

news

संशोधित गया, 22 नवंबर (हि.स.)। बिहार में गया जिला के बाराचट्टी थाना क्षेत्र अंतर्गत नक्सल प्रभावित कोलेश्वरी जोन के धनगाई के पास महुआरी गांव में कोबरा के कमांडों ने प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा (माओवादी) के कोलेश्वरी सब जोन के जोनल कमांडर आलोक यादव को मुठभेड़ में मार गिराया है। एसएसपी राजीव मिश्रा के अनुसार आलोक यादव को जिंदा या मुर्दा पकड़ने पर दस लाख रुपये का इनाम घोषित था। उन्होंने कहा कि मुठभेड़ के पूर्व नक्सलियों ने नदरपुर पंचायत की मुखिया शारदा देवी के देवर 36 वर्षीय वीरेंद्र यादव की हत्या गोली मारकर कर दी थी। नक्सलियों ने गांव के मंदिर परिसर में हो रहे सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान वीरेंद्र यादव और जयराम यादव की हत्या एके- 47 से गोली मारकर कर दी। एसएसपी राजीव मिश्रा ने कहा कि घटना की सूचना मिलते ही 205 कोबरा के कमांडो दस्ता ने वीरेंद्र यादव हत्याकांड के बाद नक्सलियों को चुनौती देते हुए मोर्चा खोल दिया। एसएसपी राजीव मिश्रा ने बताया कि नक्सली और कोबरा मुठभेड़ में तीन घायल हुए हैं। एसएसपी राजीव मिश्रा के अनुसार घायलों में एक विकास यादव है। विकास पर नक्सलियों का लाइनर होने का आरोप है। उन्होंने बताया कि घायल विकास की मौत इलाज के दौरान पटना के मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल में रविवार को हो गई। कोबरा के कमांडेंट दिलीप श्रीवास्तव ने बताया कि सब इंस्पेक्टर कन्हैया कुमार के सिर में चोट लगी। कमांडेंट दिलीप श्रीवास्तव के अनुसार सब इंस्पेक्टर कन्हैया कुमार मुठभेड़ के दौरान जमीन पर गिरने से जख्मी हुए हैं। उन्होंने कहा कि कन्हैया कुमार खतरे से बाहर है। एसएसपी राजीव मिश्रा के अनुसार सभी घायलों का इलाज गया के एएनएमसीएच में किया जा रहा है। एसएसपी राजीव मिश्रा ने बताया कि घटनास्थल से पुलिस ने एक एके- 47 और एक इंसास रायफल बरामद की है। साथ ही घटनास्थल से पुलिस ने करीब डेढ़ सौ जिंदा कारतूस के अलावा खोखा, एक वायरलेस स्कैनर,नक्सली साहित्य बरामद किया है। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज कुमार-hindusthansamachar.in