कोटे की दुकान के आवंटन के लिए बुलाई गई पंचायत में चली गोली, एक की मौत
क्राइम

कोटे की दुकान के आवंटन के लिए बुलाई गई पंचायत में चली गोली, एक की मौत

news

बलिया, 15 अक्टूबर (हि. स.)। रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गांव में कोटे की दुकान के आवंटन को लेकर गुरुवार की दोपहर को ताबड़तोड़ चली गोली में एक युवक की मौत हो गई। एसडीएम व सीओ की मौजूदगी में हुई इस वारदात के बाद घटनास्थल पर भगदड़ मच गई। सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ मौके पर पहुंचे। एसपी खुद मोर्चा संभालते हुए दबिश दे रहे हैं। आरोपित फरार हैं। गांव में व सीएचसी पर भारी पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। कोटे की दुकान के आवंटन को लेकर गांव के पंचायत भवन पर एसडीएम सुरेश कुमार पाल और सीओ चन्द्रकेश सिंह की देखरेख में बैठक चल रही थी। आवंटन को लेकर एक राय नहीं बनने पर वोटिंग कराने का निर्णय लिया गया। तय हुआ कि इसमे जिनके पास अधार अथवा कोई पहचान पत्र होगा वही वोट करेगा। एक पक्ष के लोग आधार कार्ड लेकर आए थे, लेकिन दूसरे पक्ष के पास कोई पहचान पत्र नहीं था। इसी बात को लेकर हंगामा शुरु हो गया। देखते ही देखते दो पक्ष आपस में भिड़ गए। जिसमें ईट पत्थर के साथ ही गोलियां भी चलने लगीं। इसमें दुर्जनपुर पुरानी बस्ती निवासी जय प्रकाश उर्फ गामा पाल (40) को कई गोलियां लगीं। उन्हें घायलावस्था में सोनबरसा सीएचसी पर पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। इसके अलावा कई अन्य लोग घायल हो गये। जिनका इलाज सीएचसी सोनबरसा पर चल रहा है। घटना को लेकर गांव में तनाव बना हुआ है। सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक देवेंद्र नाथ मौके पर पहुंच गये। गांव में भारी फोर्स तैनात है। मौके पर डीआईजी आजमगढ़ सुभाष चंद्र दूबे भी पहुंच रहे हैं। एसपी के पीआरओ के मुताबिक घटना में मृतक के ही गांव के ही धीरेंद्र प्रताप सिंह समेत आठ नामजद व करीब दो दर्जन अज्ञात को आरोपित किया गया है। मुख्य आरोपित धीरेंद्र सिंह भाजपा का नेता बताया जा रहा है। शासन ने लिया संज्ञान जनपद में दोनों प्रशासनिक अधिकारियों के सामने हुए इस घटना को शासन ने गंभीरता से लिया है। ऐसी सूचनाएं मिल रही है कि इन दोनों अफसरों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की जा सकती है। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज/दीपक-hindusthansamachar.in