कुख्यात अपराधी अजमल पहाड़ी मुठभेड़ में गिरफ्तार
कुख्यात अपराधी अजमल पहाड़ी मुठभेड़ में गिरफ्तार
क्राइम

कुख्यात अपराधी अजमल पहाड़ी मुठभेड़ में गिरफ्तार

news

बिजनौर, 16 अक्टूबर (हि.स.)। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और मेरठ एसटीएफ की संयुक्त टीम ने राजधानी के लाडो सराय इलाके में गुरुवार की रात मुठभेड़ के बाद कुख्यात बदमाश अजमल पहाड़ी को गिरफ्तार किया है। पुलिस की गोली पैर में लगने से वह घायल हो गया। जख्मी हालत में उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जबकि बुलेटप्रुफ जैकेट पहनने की वजह से एक पुलिस कर्मी की जान बच गयी। पुलिस ने अजमल के पास से नौ एमएस की पिस्टल, छह कारतूस व चोरी की एक मोटर साइकिल बरामद हुई है। मुठभेड़ दौरान दोनों तरफ से आठ राउंड गोलियां चलीं। बदमाश अजमल ने पहले पुलिस टीम पर गोलियां चलाईं। इसके बाद जवाबी कार्रवाई में पुलिस टीम ने भी चार गोलियां चलाईं। स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद सिंह कुशवाहा के मुताबिक, अजमल पहाड़ी मूलरूप से मुजफ्फरनगर का रहने वाला है। उसके खिलाफ दिल्ली व पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हत्या, धमकी देने, रंगदारी वसूलने, लूटपाट, पुलिस के साथ मुठभेड़ सहित 20 से ज्यादा संगीन आपराधिक घटनाओं में शामिल होने के मामले दर्ज हैं। उन्होंने बताया कि मुजफ्फरनगर व बिजनौर पुलिस भी अजमल की तलाश में जुटी थी। वर्ष 2018 सितम्बर माह में दिल्ली के इन्दिरापुरम इलाके से आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। इसके बाद वह जुलाई 2019 में जमानत पर छूटने के दिल्ली के महरौली इलाके में रह रहा था। उल्लेखनीय है कि मुजफ्फरनगर के रहने वाले कुख्यात बदमाश नफीस कालिया का सक्रिय गुर्गा अजमल पहाड़ी का निकाह नजीबाबाद में हुआ था। शादी के कुछ समय बाद ही अजमल नजीबाबाद आकर रहने लगा था। नजीबाबाद में साल 2012 में हुई डॉ. शमशाद की हत्या के बाद सुर्खियों में आया था। जेल से छूटकर आने के बाद अजमल पहाड़ी ने धराधड़ लोगों से रंगदारी वसूलने का काम शुरू कर दिया था। भाजपा नेत्री को दिखायी थी एके-47 अजमल ने अक्टूबर 2019 में नजीबाबाद की भाजपा नेत्री बिंदु सर्राफ को वीडियो कॉल करके एके-47 दिखाकर 20 लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी। इस मामले में नजीबाबाद थाने में उसके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज है। शासन स्तर से भाजपा नेत्री बिंदु सर्राफ को सुरक्षा के लिए गार्ड भी मुहैया हुआ था। हिन्दुस्थान समाचार/रिहान-hindusthansamachar.in